देश के जिस शहर में कोरोना वायरस के मरीज मिले हैं केंद्र सरकार और राज्य सरकारों ने वहां लॉकडाउन का ऐलान किया है। इसके बाद भी कुछ जगहों पर देखने को मिल रहा है कि लोग घरों से निकल रहे हैं। इसको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नाराजगी व्यक्त की है। पीएम मोदी ने सोमवार को ट्वीट करके कहा है कि लॉकडाउन को अभी भी कई लोग गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। कृपया करके अपने आप को बचाएं, अपने परिवार को बचाएं, निर्देशों का गंभीरता से पालन करें। राज्य सरकारों से मेरा अनुरोध है कि वे नियमों और कानूनों का पालन करवाएं।

वहीं कोरोना वायरस के खिलाफ जंग को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर ‘जनता कर्फ्यू’ को रविवार को अभूतपूर्व समर्थन मिला। हालांकि, कुछ जगहों से ऐसी तस्वीरें भी आईं कि लोगों ने घरों से बाहर समूह में निकलकर ताली, थाली और शंख बजाए। सभवत: पीएम लोगों के इस तरह के व्यवहार से चिंतित हैं। प्रधानमंत्री पहले ही कह चुके हैं कि ‘जनता कर्फ्यू’ एक लंबी लड़ाई की शुरुआत मात्र है। कोविड-19 संकट के दौरान भी दिन-रात काम करने वालों के प्रति आभार प्रकट करते हुए मोदी ने ट्विटर के जरिये एक दिन पहले कहा कि कर्फ्यू रविवार रात 9 बजे खत्म हो जाएगा, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम उत्सव मनाना शुरू कर दें। लोग इसको सफलता ना मानें, यह एक लंबी लड़ाई की शुरुआत है।

उन्होंने कहा कि देशवासियों ने यह साबित कर दिया है कि हम ठान लें तो बड़ी से बड़ी चुनौती को एकजुट होकर हरा सकते हैं। खुद प्रधानमंत्री ने माना कि जनता कर्फ्यू को जोरदार समर्थन मिला। यही वजह है कि उन्होंने ‘जनता कर्फ्यू’ में भागीदारी के लिए प्रोत्साहित करने वालों के प्रति भी आभार जताया। प्रधानमंत्री ने कहा कि ‘जनता कर्फ्यू’ को लेकर हर कोई अपनी-अपनी तरह से योगदान देने में जुटा रहा। इससे पहले उन्होंने लोगों से अपील की थी कि-जनता कर्फ्यू में परिवार के साथ अच्छा समय बिताएं, टेलीविजन देखें और पौष्टिक भोजन करें। कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक लोगों ने जनता कर्फ्यू का पालन किया। हर राज्य, शहर, कस्बे में पूरी तरह सन्नाटा छाया रहा और सड़कें सूनी दिखीं। प्रधानमंत्री जी की बातों का पालन करते हुए लोग सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक घरों से बाहर नहीं निकले।

लॉकडाउन का भी पालन करें
प्रधानमंत्री ने लोगों से अपील करते हुए ट्वीट किया – केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा जारी किए जा रहे निर्देशों का जरूर पालन करें, जिन जिलों और राज्यों में लॉकडाउन की घोषणा हुई है वहां घरों से बिल्कुल बाहर ना निकलें। इसके अलावा बाकी हिस्सों में भी जब तक बहुत जरूरी ना हो, तब तक घरों से बाहर ना निकलें। इससे पहले प्रधानमंत्री ने लोगों को रविवार की शाम 5 बजे पांच मिनट तक अपनी खिड़की, बालकनी से ताली, घंटी-थाली बजाने की याद दिलाई थी।

लोक गायिका मालिनी और प्रीतम को सराहा
प्रधानमंत्री ने देश की कई लोकप्रिय हस्तियों को टैग किया और उनके योगदान की सराहना की। मोदी ने एक अन्य ट्वीट में लोक गायिका मालिनी अवस्थी को टैग करके लिखा-जनता कर्फ्यू को लेकर लोक गायिका मालिनी अवस्थी जी अपने अंदाज में लोगों को प्रेरित कर रही हैं। मालिनी अवस्थी ने ट्वीट किया था कि-डरना नहीं, मुस्कराना है, मिलकर इसे अब हराना है। एक अन्य ट्वीट में मोदी ने लोक गायक प्रीतम भरतवाण जी के गीत का वीडियो जारी किया।

आमिर-दीपिका और प्रसून को टैग किया
प्रधानमंत्री ने धुरंधर गीतकार प्रसून जोशी, अभिनेता आमिर खान और अभिनेत्री दीपिका पादुकोण को टैग करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि गणमान्य लोग कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में रविवार को घर में रहने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं।

डिजिटल भुगतान पर जोर
प्रधानमंत्री मोदी ने मोहनदास पई के संदेश को टैग करते हुए ट्वीट किया- यह समय सामाजिक दूरी बनाने का है, डिजिटल भुगतान इस दिशा में आपको मदद करेगा। इससे पहले मोहनदास पई ने अपने ट्वीट में डिजिटल भुगतान पर जोर देते हुए कहा था कि-सुरक्षित रहें, सुरक्षित भुगतान करें।

संकल्प से महामारी को हराएंगे
प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारा संयम और संकल्प इस महामारी को परास्त करके रहेगा। इससे पहले प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया था कि- जनता कर्फ्यू शुरू हो रहा है, मेरी विनती है कि सभी नागरिक इस देशव्यापी अभियान का हिस्सा बनें और कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई को सफल बनाएं, हमारा संयम और संकल्प इस महामारी को परास्त करके रहेगा। इसके पहले गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई को सफल बनाने के लिए लोगों से रविवार को जनता कर्फ्यू का हिस्सा बनने का अनुरोध किया था।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.