दिल्ली–  केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को नागरिकता संशोधन एक्ट के पक्ष में राजस्थान के जोधपुर में जनसभा की. इस दौरान अमित शाह ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत विपक्ष के नेताओं पर जमकर हमला बोला. अमित शाह ने ऐलान किया कि जितना भी भ्रम फैलाना है, फैला लें लेकिन बीजेपी इस कानून पर एक इंच भी पीछे नहीं हटेगी. केंद्रीय गृह मंत्री बोले कि अगर राहुल गांधी ने कानून पढ़ा है तो वह उनसे बहस कर सकते हैं.

अमित शाह बोले कि कांग्रेस, ममता दीदी, एसपी, बीएसपी, केजरीवाल एंड कंपनी सभी इस कानून का विरोध कर रहे हैं, इन सभी को मैं चुनौती देता हूं कि वो साबित करें इससे किसी अल्पसंख्यक को नुकसान होगा. अमित शाह ने कहा कि राहुल बाबा, अगर कानून पढ़ा है तो इसपर चर्चा करने के लिए आ जाइए. अगर नहीं पढ़ा है तो मैं आपको इटली भाषा में इसका ट्रांसलेशन भेजने के लिए तैयार हूं.

अमित शाह ने कहा कि सारी पार्टी एक हो जाएं, बीजेपी CAA पर एक इंच भी वापस नहीं आएगी. जितना भी भ्रम फैलाना है, फैला लो. लेकिन हम इस कानून पर पीछे नहीं हटेंगे. जनसभा में अमित शाह ने लोगों को एक नंबर दिया और कहा कि इस पर मिसकॉल देकर CAA के लिए अपना समर्थन दर्ज कराएं.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जोधपुर में कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने देश के अंदर नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में जनजागरण अभियान का आयोजन किया है. जिनको वोटबैंक की राजनीति करने की आदत है वही इसका विरोध कर रहे हैं. कांग्रेस पार्टी ने CAA के खिलाफ दुष्प्रचार किया है, जिसकी वजह से देश के हजारों युवा गुमराह हुए. इसी वजह से हम CAA को लेकर जनजागरण कर रहे हैं.

गृह मंत्री बोले कि पाकिस्तान-बांग्लादेश-अफगानिस्तान से जो हिंदू, जैन, बौद्ध, सिख, ईसाई और पारसी अल्पसंख्यक आए, उनकी किसी ने चिंता नहीं की. लेकिन मोदी सरकार ने इस वादे को निभाया.

अमित शाह बोले कि उनको भारत में नागरिकता देने का महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू, राजेंद्र प्रसाद, सरदार पटेल समेत सभी नेताओं ने इसका वादा किया था, क्या ये भी सांप्रदायिक थे. कांग्रेस ने वोटबैंक की वजह से कुछ नहीं किया, लेकिन नरेंद्र मोदी 56 इंच की छाती वाले हैं वह किसी से नहीं घबराते हैं.

रिपोर्ट – एजेंसी इनपुट

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.