lal krishna adwani
मोदी को बताया पहले मैच में ही कप्तान बनने व तिहरा शतक जमाने वाला खिलाड़ी
एजेंसी। सूरजकुंड
भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की सराहना करते हुए आज कहा कि उन्होंने ऐसा खिलाड़ी नहीं देखा जो पहले ही मैच में कप्तान बन जाए और तिहरा शतक भी जमा देे। उनका इशारा लोकसभा चुनाव में राजग को मिली 300 से अधिक सीटों की ओर था। आडवाणी ने यहां भाजपा के पहली बार निर्वाचित सांसदों के लिए आयोजित पार्टी की प्रशिक्षण कार्यशाला के समापन भाषण में कहा, पहले ही मैच में ‘तिहरा शतकÓ जमाने के लिए नरेंद्र मोदी को बधाई। उन्होंने कहा, 2004 का चुनाव हारने के बाद मैं हमेशा भाजपा के दोबारा सत्ता में आने का सपना देखा करता था। श्री नरेंद्र मोदी ने उस सपने को सच कर दिखाया है। मैं इसके लिए भी उन्हें बधाई देता हूं।
उन्होंने कहा कि टेस्ट क्रिकेट में हमने सुना है कि अपने पहले मैच में कई खिलाडिय़ों ने एक या दोहरे शतक जमाए हैं लेकिन मैं ऐसे किसी बल्लेबाज को नहीं जानता, जो अपने पहले ही टेस्ट मैच में कप्तान बन गया हो और उसने उसमें तिहरा शतक भी जमाया हो। आडवाणी ने कहा, नरेंद्र भाई की यह अनूठी उपलब्धि है। प्रधानमंत्री उम्मीदवार के रूप में अपने पहले ही चुनाव में उन्होंने 300 से अधिक सीट दिलाने में राजग का नेतृत्व किया और भाजपा को (अपने बूते अब तक की सबसे अधिक) 283 सीट दिलाई। उन्होंने कहा, इस ऐतिहासिक सफलता के लिए मैं नरेंद्र मोदी को हार्दिक बधाई देता हूं। और अगर मैं उनके मंत्रिपरिषद के प्रदर्शन के बारे में भी कहूं तो मैं कहूंगा कि यह सफलता केवल नेता की ही नहीं बल्कि ‘टीम मोदीÓ की भी है।
दिल्ली के पास हरियाणा के सूरजकुंड में पहली बार संसद पहुंचे सदस्योंं को संबोधित करते हुए आडवाणी ने कहा, जैसा कि प्रधानमंत्री ने कहा है कि सरकार को खासतौर पर आर्थिक मोर्चे पर कुछ सख्त फैसले करने होंगे। हमें जनता को यह बताना होगा कि ऐसे निर्णय क्यों जरूरी हैं और वे कैसे देश तथा आम जनता को दीर्घकालिक लाभ पहुंचाएंगे। उन्होंने कहा, कृपया इस बात को याद रखिए कि सरकार का चेहरा और आवाज केवल प्रधानमंत्री और उनके मंत्रिपरिषद के सदस्य नहीं होते। हममें से हरेक सरकार का प्रतिनिधित्व करता है क्योंकि अब हम सत्ताधारी दल के सांसद हैं। आडवाणी ने कहा कि ऐसे में हमें किसी भी तरह के कदाचार और विवाद से दूर रहना चाहिए। जितना भी हम इसमें सफल होंगे, उतना ही प्रधानमंत्री और उनकी सरकार को मजबूत करेंगे। उन्होंने कहा कि सांसदों की जिम्मेदारी बनती है कि विकास को जन-आंदोलन बनाने की प्रधानमंत्री की महत्वपूर्ण अपील को लागू करें। उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री मोदी पिछले एक महीने से कह रहे हैं कि विकास को जन-आंदोलन बनाना चाहिए और मैं इससे काफी प्रभावित हूं। यह नया और प्रशंसनीय विचार है। भाजपा नेता ने कहा कि भारत के विकास की चुनौतियां कितनी व्यापक हैं कि उनका महज पारंपरिक तरीकों से मुकाबला नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि शासन के पारंपरिक तरीके में विकास कार्यों की चुनौतियों का मुकाबला करने में सरकारी मशीनरी और जनता के बीच संपर्क नहीं है। इसलिए उसके अपेक्षित परिणाम प्राप्त नहीं होते, जबकि सरकार उनके लिए बड़े पैमाने पर संसाधन उपलब्ध कराती है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.