मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने अहमदाबाद स्थित मोटेरा स्टेडियम का नाम नरेंद्र मोदी किए जाने पर तंज कसा है. उन्होंने आज विधानसभा में कहा कि अब तो मुझे लगता है कि हम एक भी मैच नहीं हारेंगे क्योंकि स्टेडियम का नाम बदल दिया गया है.
ठाकरे ने कहा, ”वीर सावरकर को लेकर बीजेपी बहुत प्रेम दिखा रही है. सावरकर को भारत रत्न दिए जाने के लिए दो बार केंद्र सरकार को पत्र भेजा गया. मुझे बताइए क्यों नहीं दिया गया?”
उन्होंने आगे कहा कि सभी महापुरुषों को बीजेपी अपना बता रही है. सरदार वल्लभ भाई पटेल हो या सावरकर. उद्धव ठाकरे ने कहा, ”अब तो मुझे लगता है की हम एक भी मैच नहीं हारेंगे, क्योंकि स्टेडियम का नाम बदल कर नरेंद्र मोदी कर दिया गया है. हमने छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम पर हवाई अड्डे का नाम रखा है, लेकिन उन्होंने सरदार पटेल स्टेडियम का नाम बदल दिया है.”
उन्होंने आगे कहा, ”हमें आपसे हिंदुत्व नहीं सीखना है.हम आपको विश्वास दिलाते हैं कि औरंगाबाद का नाम हम समभाजी नगर करेंगे.”
बता दें कि 1988 में शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे ने एक रैली में औरंगाबाद का नाम संभाजी नगर किए जाने की मांग की थी. तभी से शिवसेना नाम बदलने की बात करती रही है. अब शिवसेना सत्ता में है और नाम बदलने पर विचार कर रही है. इस फैसले का महाराष्ट्र सरकार में शामिल कांग्रेस ने विरोध किया है.
उद्धव ठाकरे ने कहा कि सिर्फ भारत माता की जय बोलने से देशप्रेम साबित नहीं होता है. उन्होंने कहा कि संघ मुक्त भारत की बात करने वाले नीतीश कुमार को आपको सिर पर बिठाना पड़ रहा है, ये आपका हिंदुत्व है.
मुख्यमंत्री ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि ऐ मेरे महाराष्ट्र के लोगों, जरा पोछो आंख का पानी, जो झूठ बोलते हैं उनकी, अब खत्म करो बेइमानी.
किसान आंदोलन
उद्धव ठाकरे ने विधानसभा में कहा, ”संत नामदेव महाराष्ट्र के बड़े संत हैं. उन्होंने पंजाब में बड़ा काम किया है. वहां के किसानों के लिए भी काम किया है लेकिन आज पंजाब का किसान रास्ते पर है, उस पर भी विचार करना होगा. किसानों को देश की राजधानी में आने से रोका जा रहा है. उनके रास्तों में कीलें लगाई जा रही है. किसानों के लिए बड़ी तैयारी लेकिन चीन को देख भाग गए.”

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.