मथुरा में लोकसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी फिल्म अभिनेत्री हेमा मालिनी के खिलाफ चुनाव लड़ीं हेमामालिनी को चुनाव मैदान में उतरने की एवज में पांच करोड़ रुपये का ऑफर दिया था। स्टिंग ऑपरेशन में उन्होंने यह स्वीकार लिया है। जिससे अब वह फंस गई हैं। वैसे यह भाजपा प्रत्याशी हेमामालिनी सिने तारिका नहीं हैं, बल्कि उनकी प्रतिद्वंद्वी के तौर पर निर्दलीय लड़ी थीं। सहायक रिटर्निंग अफसर ने डीएम के निर्देश पर कल उनके खिलाफ रिपोर्ट कराई है।
लोकसभा चुनाव के दौरान राष्ट्रीय न्यूज चैनल ने स्टिंग आपरेशन किया था, जो चैनल पर प्रसारित हुई थी। इसमें थाना बल्देव क्षेत्र के नगला रामरूप के रामकिशन ने अपनी पत्‍‌नी हेमामालिनी को निर्दलीय प्रत्याशी बनकर लोकसभा चुनाव में खड़े होने और दूसरे प्रत्याशी के वोट काटने के लिए पांच करोड़ रुपये के ऑफर का हवाला दिया था। माना जा रहा है कि समान नाम होने की वजह से वह भाजपा प्रत्याशी हेमामालिनी के वोट काटतीं। न्यूज चैनल ने एक अन्य स्टिंग ऑपरेशन में मुस्लिम संगठन से जुड़े डॉ. शेख ने नकदी दिलाने के एवज में एक समुदाय वोट के दिलाने की रिपोर्ट दिखाई थी।
इस मामले को जिला निर्वाचन अधिकारी/डीएम विशाल चौहान ने संज्ञान लिया और मामले की जांच सहायक रिटर्निंग अफसर/ डिप्टी कलक्टर अंजनि कुमार सिंह को सौंपी। 21 अप्रैल को डिप्टी कलक्टर ने जांच पूरी कर डीएम को सौंप दी। इसके बाद डीएम ने निर्दलीय प्रत्याशी हेमामालिनी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के आदेश कर दिए। सहायक रिटर्निंग अफसर अंजनि कुमार ने कल थाना सदर बाजार में निल पर रिपोर्ट कराई। मुकदमा की विवेचना थाना बल्देव को ट्रांसफर की जा रही है।
ऑफर किसने दिया
इसको लेकर यह सवाल उठ रहे हैं कि सिनेतारिका हेमामालिनी के समान नाम वाली प्रत्याशी को आखिर ये ऑफर किसने किया होगा? इसकी वजह यह रही है कि स्टिंग में ऑफर देने वाले का नाम नहीं दिखाया गया है। वैसे हेमामालिनी के नाम वाली दूसरी हेमामालिनी के मैदान में उतरने पर संदेह तो शुरू से जताया जा रहा था। मथुरा में एक और हेमा ने पर्चा भरा था लेकिन वह बात में मैदान से हट गईं थीं।hema malini

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.