mulayam singhआखिर मुलायम सिंह की नींद खुल ही गई। हारने के बाद तो उनकी नींद खुलनी ही थी। अपनी हार का जिम्मेदार उन्होंने अपनी पार्टी के लालची और भ्रष्टï नेताओं को ठहराया है।
लोकसभा के चुनाव में करारी शिकस्त से झुंझलाए उत्तर प्रदेश की सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने यहां पार्टी नेताओं की जमकर क्लास ली। पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित पार्टी प्रत्याशियों की बैठक में चुनाव में पराजित उम्मीदवारों ने भी उन नेताओं के नाम का खुलासा किया जिन्होंंने पार्टी को चुनाव हराने के लिए काम किया। सभी प्रत्याशियों की बात सुनने के बाद सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने कड़े तेवर दिखाते हुए कहा कि जब मंत्री दूसरे कामों में लग जाएंगे तो चुनाव कहां से जीता जाएगा। उन्होंने कहा कि विश्वासघात करने वालों के साथ सख्ती की जाएगी। पराजय के कारण बने लोगों को माफ नहीं किया जाएगा। शीघ्र ही सरकार और संगठन की भी समीक्षा होगी। इस दौरान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव चुपचाप सारी बातें सुनते रहे। सपा अध्यक्ष ने कहा कि जिन जिलों में पार्टी के सभी विधायक और दो से तीन मंत्री हो वहां से पार्टी प्रत्याशी का तीसरे और चौथे स्थान पर जाना जनता के गुस्से का सबसे बड़ा सबूत है। इससे पहले संभल से चुनाव हारे सफीकुर्ररहमान बर्क ने अपने हारने का कारण बताते हुए कहा कि चुनाव के ठीक पहले राज्यमंत्री से कैबिनेट मंत्री बनाए गए इकबाल महमूद ने क्षेत्र में उनका जमकर विरोध किया।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.