पारा करीब 43 डिग्री। लू के थपेड़े। चुनावी माहौल में दोपहर में सूनी पड़ी गलियां। चुनावी माहौल में नारों से गूंजने वाली गलियों में शांति छाई है। तपती दोपहरी में समर्थक भी कन्नी कांट रहे हैं। गर्मी के चलते साथ रहने वाले नेताओं के समर्थक खास कामों का बहाना बना कर दोपहर में प्रचार में जाने से बच रहे हैं। आलम यह है कि दोपहर में मीटिंग और सुबह और शाम के वक्त प्रचार हो रहा है। हालांकि बिजली-पानी की किल्लत के कारण भी समर्थक प्रचार में जाने से कतरा रहे हैं।

निकाय चुनाव के लिए प्रत्याशी ताल ठोक चुके हैं। नगर निगम के 110 वार्डों पर 1782 प्रत्याशी चुनाव मैदान में अपनी किस्मत आजमाने उतरे हैं। सात जून को नामांकन वापस के बाद वार्डों में प्रत्याशियों की वास्तविक संख्या स्पष्टï होगी। लेकिन चुनाव मैदान में कूदे प्रत्याशी अभी से चुनाव प्रचार में जुट गए हैं। भीषण गर्मी का असर चुनाव पर भी दिखाई पड़ रहा है। भीषण गर्मी ने आमजन के साथ ही प्रत्याशियों के होश उड़ा दिए हैं। प्रत्याशियों को गर्मी से निपटते हुए चुनाव जितने के लिए समर्थक जुटाने में काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। सामान्य मौसम में होने वाले चुनाव में चुनावी नारों और वायदों से गूंजने वाली मोहल्लों की गलियां इस चुनावी मौसम में दोपहर में सूनी पड़ी हैं। पुराने लखनऊ के वार्डों समेत नई आबादी के वार्डों की गलियों में डोल-ताशों पर नेताओं के समर्थकों के नारों की गूंज सुनाई नहीं पड़ रही है। गर्मी ने दोपहर में चुनाव प्रचार पर असर डाल रखा है। दोपहर होते ही प्रत्याशियों के समर्थक बहाने बाजी के साथ मोबाइल का स्वीच ऑफ कर रख है। समर्थकों के इस रवैए को देख प्रत्याशियों ने दोपहर में सिर्फ मोहल्लों में अपने समर्थकों के घर मीटिंग कर रहे हैं। सुबह प्रभात फेरी और शाम ढलने के बाद प्रचार को निकल रहे है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.