केंद्र तथा उत्तर प्रदेश की सत्ता पर काबिज भारतीय जनता पार्टी आज यानी शुक्रवार से प्रदेश में आत्मनिर्भर भारत अभियान शुरू कर रही है। नौ दिन के इस अभियान में केंद्र की नरेंद्र मोदी तथा उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने का प्रयास होगा। इसको भाजपा की सभी वर्गा की सक्रिय सहभागिता बढ़ाने का अभियान माना जा रहा है।

आत्मनिर्भर भारत अभियान 20 जून तक चलेगा। इस अभियान में विभिन्न क्षेत्रों के प्रबुद्ध व विशिष्ट जनों से पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का विभिन्न विषयों पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सीधा संवाद होगा। अभियान के समन्वयक जेपीएस राठौर ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वैश्विक महामारी संकट काल में 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकैज से भारत को आत्मनिर्भर बनाने का जो खाका खींचा है। उस पर फोकस करते हुए पार्टी के नेता देश की अर्थव्यवस्था को मजबूती देने वाले वर्गो के प्रमुख जनों से वर्चुअल संवाद होगा।

कृषि मंंत्री सूर्यप्रताप शाही 12 जून को प्रगतिशील किसानों से रूबरू होंगे। भाजपा सांसद तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. महेश शर्मा स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े लोगों से वर्चुअल संवाद करेंगे। 13 जून को राज्य के डिप्टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा शिक्षा क्षेत्र से जुड़े लोगों से वर्चुअल संवाद करेंगे तो राष्ट्रीय महामंत्री भूपेंद्र यादव प्रबुद्ध वर्ग के साथ जनसंवाद करेंगे। भाजपा के प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल एनजीओ से जुड़े लोगों से जनसंवाद करेंगे। 14 जून को भाजपा उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह सहयोग सेवा से जुड़े लोगों से जनसंवाद करेंगे। स्वतंत्र देव सिंह सहयोग सेवा से जुड़े व्यक्तियों के साथ जनसंवाद करते हुए अभियान को गति देंगे। राष्ट्रीय महामंत्री तथा उत्तर प्रदेश से राज्यसभा सदस्य अरुण सिंह व्यवसायिक वर्ग के लोगों से वर्चुअल जनसंवाद करेंगे। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष विनय सहस्त्रबुद्धे 15 जून को प्रदेश में सुशासन से जुड़े लोगों से संवाद करेंगे।

समन्वयक महामंत्री विजय बहादुर पाठक ने बताया अभियान का उद्देश्य सभी वर्गा की सक्रिय सहभागिता बढ़ाना है। इसी कड़ी में महामंत्री संगठन सुनील बंसल एनजीओ से जुड़े व्यक्तियों के साथ तथा सांसद डॉ. महेश शर्मा स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े डॉक्टर, मेडिकल स्टाफ, नर्स व पैरामेडिकल स्टाफ से जन संवाद करेंगे।

पार्टी ने कार्य व्यवसाय के आधार पर प्रगतिशील किसान, स्वास्थ्य सेवा, शिक्षा, प्रबुद्धवर्ग, व्यावसायिक, सहयोग सेवा, सुशासान, एनजीओ, समग्र ग्राम विकास, वरिष्ठ नागरिक, विधि परामर्श, लघु सीमांत किसान, सूक्ष्म एवं लघु उद्योग, पशुपालन, प्रवासी मजदूर, व्यापार, आॢथक, पटरी दुकानदार, श्रमिक संगठन सहित 35 सामाजिक श्रेणियों का निर्धारण किया है। इसके कुशल संचालन की जिम्मेदारी प्रदेश पदाधिकारी संभालेगें। इनमें नवाब सिंह नागर एनजीओ वर्ग, लक्ष्मण आचार्य सुशासन, विजय बहादुर पाठक प्रबुद्धवर्ग, अनूप गुप्ता स्वास्थ्य सेवा, प्रकाश पाल प्रगतिशील किसान, अमर पाल मौर्य शिक्षा, संजय राय सहयोग सेवा तथा मनीष कपूर व्यावसायिक वर्ग से संवाद कार्यक्रम का संचालन करेंगे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.