Smriti in Amethiअमेठी। केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने शनिवार को कहा कि उत्तर प्रदेश की कानून-व्यवस्था ठीक नहीं है और महिलाओं तथा बच्चों के प्रति अपराधों में हुई खासी बढ़ोतरी के मद्देनजर सरकार को उनकी सुरक्षा पर विशेष ध्यान देना चाहिये।
नेहरू-गांधी परिवार के गढ़ अमेठी में गत लोकसभा चुनाव में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को कड़ी टक्कर देने के बाद पहली बार यहां आयी स्मृति ने संवाददाताओं से बातचीत में सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव के उत्तर प्रदेश की कानून-व्यवस्था को दूसरे राज्यों के मुकाबले बेहतर बताये जाने सम्बन्धी बयान पर कहा यादव बहुत वरिष्ठ नेता हैं और उन्हें कोई भी बयान बहुत सोच-समझकर देना चाहिये। उन्होंने कहा सूबे में कानून-व्यवस्था की स्थिति ठीक नहीं है। महिलाओं एवं बच्चों के प्रति अपराधों में भारी बढ़ोतरी हुई है। मैं एक केन्द्रीय मंत्री की हैसियत से इतना ही कहना चाहती हूं कि प्रदेश सरकार कानून-व्यवस्था की स्थिति सुधारे।
केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार आने पर कानून-व्यवस्था की स्थिति में सुधार किया जाएगा और राज्य के ठप विकास कार्य दोबारा शुरू कराए जाएंगे। स्मृति ने कहा अमेठी से मेरा हारना दुर्भाग्यपूर्ण था लेकिन अमेठी में हमारा संघर्ष अभी खत्म नहीं हुआ है। लोकसभा सीट जीतने के बाद ही यह संघर्ष खत्म होगा। यहां की जनता की मुझसे बहुत उम्मीदें हैं जिन पर खरा उतरने की वह कोशिश करूंगी। उन्होंने यह भी कहा कि मौजूदा सांसद राहुल गांधी से अमेठी के लोग कोई उम्मीद नहीं रखते। स्मृति ने एक ढाबे पर कार्यकर्ताओं के साथ बैठक में उनसे पूछा कि क्या वे चुनाव खत्म होने के बाद जनता के बीच गये थे। कारकुनों की चुप्पी पर उन्होंने कहा मैं सोनिया नहीं हूं, मैं ईरानी हूं, मैं चुनाव हारूं या जीतूं, हमें जनता के सुख-दुख में भागीदार रहना है। केन्द्रीय मंत्री ने कहा भाजपा की कथनी और करनी में कोई अंतर नहीं है। मैंने चुनाव में कहा था कि मैं अमेठी से नहीं जाउंगी। आज मैं यहां आयी हूं, यह इसका संकेत है। मैं भले ही यहां की सांसद नहीं हूं लेकिन यहां आती रहूंगी।
उन्होंने कहा प्रदेश में भाजपा की सरकार ना होने से विकास कार्यों में दिक्कत आ रही है। फिर भी यहां की समस्याओं के सम्बन्ध में मैं प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से बात करूंगी। स्मृति ने कहा कि अमेठी में महिलाओं की दशा दयनीय है। सुरक्षा का नामोनिशान नहीं है। मुसाफिरखाना क्षेत्र के बरौलिया गांव में गत मई में हुए अग्निकांड के पीड़ितों को अब तक घर नहीं दिये जाने पर उन्होंने जिलाधिकारी जगतराज तिवारी को तलब किया और आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। स्मृति ने मुसाफिरखाना तहसील में कडुनला में शहीदों की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। उन्होंने हाल में लूट और हत्या की वारदात के शिकार हुए सर्राफा व्यवसायी राजू अग्रहरि के परिजन से मुलाकात भी की। इसके पूर्व, केन्द्रीय मंत्री का इन्हौना तथा भेल जगदीशपुर में जोरदार स्वागत किया गया। ब्यूरा

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.