लखनऊ। देश के महत्वपूर्ण स्थलों पर हमले की योजना बना रहे इंडियन मुजाहिदीन समेत अन्य आतंकी संगठनों के निशाने पर अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वाराणसी स्थ‍ित कार्यालय भी है। काशी विश्वनाथ मंदिर, गंगा घाट, सारनाथ और एयरपोर्ट समेत तमाम महत्वपूर्ण स्थानों पर भी हमले का इनपुट खुफिया एजेंसियों के पास है। गृह मंत्रालय ने लोकसभा चुनाव में वाराणसी से नरेंद्र मोदी के प्रस्तावक जस्टिस गिरधर मालवीय पर हमले की आशंका जताते हुए अलर्ट जारी किया है।

इससे पहले स्थानीय खुफिया एजेंसियों ने नगर के महत्वपूर्ण स्थानों पर हमले की आशंका जताते हुए सुरक्षा-व्यवस्था के संबंध में अफसरों को आगाह किया है। मोदी के बनारस से चुनाव लडऩे के एलान के साथ ही बिहार समेत आसपास के जिलों में आतंकियों ने अपना जाल बिछाना शुरू कर दिया था। पटना रैली में हुए ब्लास्ट के तार भी बनारस और पड़ोसी जिले मीरजापुर से जुड़े थे। बीते वर्ष बोधगया में हुए धमाके का आरोपी मोनू भी मोदी को निशाना बनाने के लिए महीनों टूरिस्ट गाइड बनकर बनारस में घूमता रहा लेकिन सुरक्षा एजेंसियों की सक्रियता के चलते साजिश को अंजाम तक नहीं पहुंचा पाया।
एसएसपी जोगेंद्र कुमार का कहना है कि अभी खुफिया एजेंसियों ने बनारस में जस्टिस गिरधर मालवीय पर ही हमले की आशंका जताई गई है। रविंद्रपुरी स्थित प्रधानमंत्री के संसदीय कार्यालय को लेकर अभी कोई पत्र तो नहीं मिला है मगर सुरक्षा के इंतजाम किए जा रहे हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.