अमृतसर। पूर्व क्रिकेटर व पंजाब के पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने पांचवे दिन भी बिहार की अदालत का समन रिसीव नहीं किया। समन लेकर आई बिहार पुलिस टीम पांच दिन से सिद्धू को समन देने के लिए उनकी कोठी के चक्‍कर लगा रही है, लेनिक वह नहीं मिल रही है। बिहार के कटिहार जिले की पुलिस टीम ने अब अमृतसर में डेरा डाल दिया है। टीम के सदस्‍याें का कहना है कि अ‍ब सिद्धू को समन देने के बाद ही लाैटेंगे। अब टीम कोे बताया गया है कि सिद्धू अभी बाहर हैं और साेमवार को आएंगे।

रविवार को भी कटिहार पुलिस की टीम सुबह से लेकर देर रात तक सिद्धू की कोठी के चक्कर काटती रही। कटिहार पुलिस टीम में शामिल सब इंस्पेक्टर जनार्दन प्रसाद और जावेद अहमद ने बताया कि पांचवें दिन भी पूर्व मंत्री के आवास से उन्हें कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला। आफिस अटेंडेंट ने सिर्फ इतना कहा कि सोमवार को पूर्व मंत्री के आने की संभावना है। उम्मीद है कि सोमवार को वह सिद्धू को नोटिस तामील करवा देंगे।

2019 के लोकसभा चुनाव में सिद्धू जनसभा में किया था आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल

बिहार पुलिस टीम के सदस्‍यों ने बताया कि बिहार पुलिस के आला अधिकारियों ने भी आदेश दिए हैं कि वह सिद्धू को नोटिस रिसीव करवाकर ही लौटें। दोनों पुलिस मुलाजिमों ने बताया कि कोरोना काल में वे यहां होटल में रह रहे हैं और कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए खास सावधानी भी बरत रहे हैं।

पिछले वर्ष भी बैरंग लौटी थी बिहार पुलिस

बता दें कि लोकसभा चुनाव के समय 16 अप्रैल 2019 को बिहार के कटिहार जिला के वरसोई थानाक्षेत्र में नवजोत सिंह सिद्धू को एक सभा को संबोधन के लिए बुलाया गया था। सिद्धू ने कांग्रेस प्रत्याशी व पूर्व सांसद तारिक अनवर के पक्ष में आयोजित चुनावी सभा में पहुंचे थे। आरोप है कि सिद्धू ने सभा में आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया था।

बताया जाता है  चुनावी सभा में सिद्धू ने एक समुदाय विशेष को उकसाने वाली बातें कही थीं। इस पर देशभर में विवाद पैदा हो गया था और नवजाेत सिंह सिद्धू विरोधी नेताओं के निशाने पर आ गए थे। यहां तक कि कांग्रेस उम्‍मीदवार तारिक अनवर ने भी उनके बयान से सहमति जताई थी। इसके बाद चुनाव पर्यवेक्षक की शिकायत पर सिद्धू के खिलाफ चुनाव आचार संहिता के उल्‍लंघन के आरोप में क‍टिहार के वरसोई पुलिस थाना में केस दर्ज किया था। हालांकि केस में सभी धाराएं जमानत योग्य हैं।

सिद्धू से पूछताछ करने व बयान कलमबद्ध करने के लिए पिछले साल दिसंबर में भी बिहार पुलिस आई थी लेकिन तब भी उसे बैरंग लौटना पड़ा था। अब फिर सिद्धू कोर्ट का समन नह‍ीं ले रहे हैं। बताया जाता है कि समन नहीं लेने पर सिद्धू के लिए मुश्किल खड़ी हाे सकती है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.