केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता मुख्तार अब्बास नकवी समेत 19 भाजपा नेताओं को बुधवार को एक स्थानीय अदालत ने वर्ष 2009 के लोकसभा चुनाव के दौरान निषेधाज्ञा के उल्लंघन का दोषी पाया और एक साल जेल की सजा सुनाई। अल्पसंख्यक मामलों के राज्य मंत्री 57 वर्षीय नकवी को बाद में जमानत मिल गई। 18 अन्य को नकवी के साथ ही मामले में दोषी करार दिया गया। सजा सुनाए जाने के वक्त नकवी अदालत में मौजूद थे। न्यायिक मजिस्ट्रेट मनीष कुमार ने नकवी को भारतीय दंड संहिता की धारा 143, 341 और 342 का दोषी ठहराने के साथ ही आपराधिक कानून संशोधन अधिनियम और भारतीय दंड संहिता की धारा 144 के उल्लंघन का दोषी ठहराया।
यह मामला 2009 के लोकसभा चुनाव के प्रचार अभियान से जुड़ा है। उत्तर प्रदेश में रामपुर संसदीय कार्य क्षेत्र के पटवाई इलाके में नकवी ने भाजपा के कार्यकर्ताओं के साथ प्रदर्शन का नेतृत्व किया था और इस दौरान उन्होंने वहां लागू निषेधाज्ञा आदेशों का कथित रुप से उल्लंघन किया और थाने में घुस गए।
भाजपा कार्यकर्ता रामपुर भाजपा इकाई के अध्यक्ष की गिरफ्तारी और पार्टी के एक वाहन को जब्त किए जाने का विरोध कर रहे थे।.पुलिस ने नकवी सहित 200 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी, जिसमें 20 लोग नामजद थे। इसमें मुख्तार अब्बास नकवी का नाम भी शामिल था। सभी पर थाने का घेराव करने और जाम लगाने का मुकदम चल रहा था। आरोप था कि चुनाव प्रचार के दौरान भाजपा का झंडा लगा वाहन रोकने और उसे सीज करने पर भाजपाइयों ने थाने का घेराव किया था। रोड पर जाम लगा दिया था।
जानकारी मिलने पर भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुख्तार अब्बास नकवी भी कार्यकर्ताओं के साथ वहां पहुंच गए थे। कोर्ट ने इसी मामले की सुनवाई करते हुए उन्हें एक साल की सजा सुनायी और दो हजार रुपए का जुर्माना लगाया। इसके बाद नकवी सहित सभी नेताओं ने जमानत के लिए कोर्ट को अर्जी दी, जिसपर कोर्ट ने दो-दो जमानतदार उपलब्ध कराने पर रिहा करने का आदेश दिया।
केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि मैं कोर्ट के आदेश का सम्मान करता हूं, हालांकि मुझे इस मामले में गलत तरीके से आरोपी बनाया गया है। मैं विरोध प्रदर्शन में शामिल नहीं था। मुझे सजा सुनायी गयी है और मेरे वकीलों ने जमानत की अर्जी दायर की है, जिस पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने मुझे जमानत दी है। हम आदेश का अध्ययन करेंगे और उचित कानूनी कदम उठाएंगे। download

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.