आईएएस अधिकारी nitesh jhaa को गृह मंत्री राजनाथ सिंह का विशेष कार्याधिकारी (ओएसडी) नियुक्त किया गया है। वह 2002 बैच के उत्तराखंड कैडर के अधिकारी हैं। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आईपीएस अधिकारी आलोक सिंह की गृह मंत्री के निजी सचिव के रूप में नियुक्ति पर रोक लगा दी थी। उधर गृह राज्य मंत्री किरन रिजिजु को अंतत: निजी सचिव मिल गया। 2002 बैच के आईपीएस अधिकारी विकास आनंद उनके निजी सचिव होंगे। वह अभिनव कुमार की जगह लेंगे, जिन्हें सरकार की इस नई नीति के कारण मंत्री का कार्यालय छोडऩा पडा था कि पूर्व की संप्रग सरकार में कार्य कर चुके निजी स्टाफ को नहीं लिया जाएगा। कुमार रिजिजु की पहली पसंद थे। वह पूर्व मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री शशि थरूर के साथ थे। उन्होंने नए मंत्री के साथ कार्य शुरू कर दिया था लेकिन 19 जून को आए सरकारी निर्देश की वजह से उन्हें हटना पडा।
सरकारी सर्कुलर में कहा गया कि सक्षम प्राधिकार द्वारा तय किया गया है कि पूर्व में किसी मंत्री के साथ किसी भी पद पर और किसी भी अवधि के लिए स्टाफ रहे अधिकारी या निजी व्यक्ति को वर्तमान सरकार में मंत्रियों का निजी स्टाफ नहीं रखा जाएगा। सरकारी निर्देश के बाद आईपीएस अधिकारी आलोक सिंह की गृह मंत्री के कोई और विकल्प नहीं है। बदायूं में पिछले महीने दो लड़कियों की बलात्कार के बाद हत्या पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून द्वारा टिप्पणी किए जाने से पूरा प्रदेश शर्मसार हुआ है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.