उत्तरmulayam प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनावों से पहले सत्ताधारी समाजवादी पार्टी के अंदर नाखुशी का माहौल है। खुद समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने अपनी पार्टी तैयारियों पर नाखुशी जाहिर करते हुए आज कहा कि जहां दूसरी पार्टियां चुनाव को लेकर गंभीर है, वहीं सपा ‘सो रही है।’ सपा मुखिया ने ‘छोटे लोहिया’ के नाम से मशहूर रहे समाजवादी चिन्तक जनेश्वर मिश्र की जयन्ती के मौके पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को किसानों, युवाओं और महिलाओं को पार्टी से जोड़ने की सलाह दी और कहा कि वह पार्टी के चुनाव घोषणापत्र को पूरी तरह लागू करें।

जो भी बुराइयां हैं, वे सब प्रदेश के मंत्रियों में हैं
मुलायम सिंह यादव ने किसी पार्टी का नाम लिये बगैर कहा कि विधानसभा चुनाव में अब ज्यादा समय नहीं रह गया है। दिल्ली में सिर्फ इसी चुनाव की चर्चा है। यूपी में सरकार बनाने के लिये विपक्ष के लोग कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। पूरी तरह से बाकायदा कैसे यूपी में दंगा हो, उसमें दो पार्टियां बहुत मजबूती से जुटी हुई हैं। यादव ने कहा, ‘कह दो कि भाजपा के लोग प्रदेश के हर क्षेत्र में सक्रिय नहीं हैं, लेकिन हमारी पार्टी सो रही है।’ उन्होंने कहा कि जो भी बुराइयां हैं, वे सब प्रदेश के मंत्रियों में हैं।

कार्यकर्ताओं पर तंज कसते हुए सपा मुखिया ने कहा, ‘आने वाले विधानसभा चुनाव में क्या दोबारा सरकार बना लोगे। अपनी कमियां दूर कर लोगे। बहुत सी कमियां हैं, क्या उनको ठीक कर लोगे। जमीनों पर कब्जा करना बंद कर दोगे। कई जगह जमीनों पर कब्जा है और किया जा रहा है। अरे, पैसा कमाना है तो कोई व्यापार करो। राजनीति में तो त्याग करना पड़ेगा।’ यादव ने नाराजगी भरे लहजे में कहा कि नयी पीढ़ी के सपा कार्यकर्ता समाजवाद की बुनियाद से वाकिफ नहीं हैं। युवा कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण शिविर चलाने के लिये उन्होंने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से कई बार कहा लेकिन कोई ध्यान ही नहीं दिया गया। उन्होंने मुख्यमंत्री से मुखातिब होते हुए कहा कि सपा के नेता अखिलेश के मुकाबले उनसे ज्यादा मुलाकात करते हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.