कोलकाताः पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में वोटरों को साधने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज खड़गपुर में एक रैली को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने राज्य की जनता से अपील की हमें पांच साल के लिए मौका दें तो पिछले 70 साल की बर्बादी को पाट दूंगा. इस दौरान उन्होंने ममता बनर्जी को विकास की ‘राह में रोड़ा’ करार दिया. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार राज्य के विकास के लिए पैसा भेजती है लेकिन ममता बनर्जी यहां उन योजनाओं को लागू नहीं होने देती. रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने नारा लगाया. उन्होंने कहा- ‘बंगाल में इस बार बीजेपी की सरकार.’
रैली को संबोधित करते हुए कहा कि अगर हमारी पार्टी बंगाल की सत्ता में आती है तो हम चरणबद्ध तरीके से यहां का विकास करेंगे. पीएम मोदी ने कहा कि राज्य में बीजेपी की सरकार बनते ही कृषि, सिंचाई और कोल्ड स्टोरेज की सुविधा बेहतर की जाएगी.
पीएम मोदी ने कहा, ”बंगाल ने कांग्रेस के कारनामें देखे हैं, वामदल की बर्बादी को अनुभव किया है और टीएमसी ने आपके सपनों को कैसे चूर-चूर किया पिछले 70 साल में यही देखा है. हमें 5 साल का मौका दीजिए, 70 साल की बर्बादी को मिटाकर रहेंगे.”
पीएम ने खेला ‘बंगाल कार्ड’
वोटोरों को अपने पक्ष में लुभाने के लिए पीएम मोदी ने बंगाल कार्ड भी खेला. इस दौरान उन्होंने कहा, ”जनसंघ के जनक इसी बंगाल के सपूत थे. इसलिए अगर यहां सही अर्थ में कोई बंगाल की पार्टी है तो वो है बीजेपी. बीजेपी के डीएनए में आशुतोष मुखर्जी और डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी का आचार, विचार, व्यवहार और संस्कार है.”
विकास के मुद्दे को लेकर उन्होंने कहा, ”जहां-जहां राज्यों में बीजेपी सरकारें हैं, वहां केंद्र और बीजेपी की राज्य सरकार मिलकर डबल इंजन की ताकत के साथ जनता-जनार्दन की सेवा में लगे हुए हैं. हम सबका साथ-सबका विकास और सबका विश्वास के मंत्र के साथ काम कर रहे हैं.”
‘ममता पर हमला’
रैली के दौरान पीएम मोदी ने राज्य के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर करारा हमला बोला. उन्होंने कहा, ”बीजेपी शासित प्रदेशों में विकास हो रहा है लेकिन पश्चिम बंगाल में दीदी, विकास की हर योजना के सामने दीवार बनकर खड़ी हो गई हैं. आपने दीदी पर भरोसा किया, लेकिन दीदी ने आपको दुर्नीति दी, आपके साथ विश्वासघात किया.”
पीएम मोदी ने कहा, ”आज दीदी, दस ‘ओन्गीकार’ की बात कर रही हैं. अरे दीदी, बंगाल के लोगों ने आपको दस साल सेवा का अवसर दिया था. लेकिन आपने उन्हें लूट-मार से भरे दस साल दिए. आपने उन्हें 10 साल का भ्रष्टाचार दिया. आपने उन्हें 10 साल का कुशासन दिया.”
कब है बंगाल में वोटिंग
पश्चिम बंगाल में कुल आठ चरणों में चुनाव होंगे. पहले चरण में 30 सीटों पर 27 मार्च को वोटिंग होगी. वहीं, दूसरे चरण में 30 सीटों पर एक अप्रैल को, तीसरे चरण में 31 सीटों पर 6 अप्रैल को, चौथे चरण में 44 सीटों पर 10 अप्रैल को, पांचवें चरण में 45 सीटों पर 17 अप्रैल को, छठे चरण में 43 सीटों पर 22 अप्रैल को, सातवें चरण में 36 सीटों पर 26 अप्रैल को और आठवें और अंतिम चरण में 35 सीटों पर 29 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे. वहीं, पांच राज्यों में एक साथ 2 मई को नतीजे घोषित किए जाएंगें.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.