आलोचना की आरोप लगाये फिर राय भी देने से नही हटे पीछेKEJRIWAL_PC_1737992f
आयरलैंड और अमेरिका की मोदी की यात्रा पर केजरीवाल ने पूछा कि प्रधानमंत्री की विदेश यात्राओं से देश ने क्या हासिल किया। उन्होंने फेसबुक मुख्यालय और गूगल कैम्पस सहित अन्य स्थानों पर प्रधानमंत्री के जाने की आलोचना की।
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की विदेश यात्राओं पर सवाल उठाते हुए सवाल किया कि क्या निवेश की खातिर उनका गूगल और फेसबुक जैसी कंपनियों में जाना मुनासिब है। पार्टी ने एफडीआई में गिरावट का दावा करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री की यात्राओं ने कोई ठोस नतीजा नहीं निकला है।
मुख्यमंत्री ने कई ट्वीट कर कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी की अमेरिका यात्रा संपन्न हो गई। उनकी विदेश यात्राओं से देश ने अब तक क्या हासिल किया है? क्या यह किसी भारतीय प्रधानमंत्री को शोभा देता है कि वह निवेश मांगने चुनींदा कंपनियों में जाएं।’ आप ने अलग से कहा कि असल मुद्दा यह है कि प्रधानमंत्री विदेशों में खुद को कैसे पेश करते हैं। वह तथ्यात्मक रूप से गलत बयान देते हैं और धर्मनिरपेक्षता पर हमले कर देश के मूल ढांचे को निशाना भी बनाते हैं।
केजरीवाल ने जोर दिया कि देश को पहले बुनियादी ढांचे के विकास पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह खुद ब खुद निवेश आकषिर्त करेगा। उन्होंने कहा कि उदाहरण के तौर पर चीन ने सबसे पहले चीन को खड़ा किया और फिर सभी कंपनियों ने चीन में निवेश में रूचि ली। इसलिए पहले भारत बनाइए। यदि हम भारत को मजबूत बनाएंगे तो निवेश हमारी शर्तों पर आएगा, अन्यथा निवेशक शर्तें थोपेंगे। आप नेता आशुतोष ने कहा कि प्रधानमंत्री की विदेश यात्रा ने गंभीर सवाल खड़े किए हैं जिन पर चर्चा करने की जरूरत है। पार्टी के नेता दिलीप पांडे ने कहा कि असल मुद्दा यह है कि प्रधानमंत्री विदेशों में खुद को कैसे पेश करते हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.