वायनाड। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा है कि उनकी पार्टी के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के  पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की नेता इमरती देवी को लेकर जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया है उसे वे पसंद नहीं करते हैं। हालांकि राहुल गांधी ने यह भी कहा है कि कमलनाथ अपने बयान के लिए खेद भी जता चुके हैं। राहुल गांधी मंगलवार को अपने लोकसभा क्षेत्र में एक पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे, वे फिलहाल वायनाड के दौरे पर हैं। इमरती देवी आसन्न विधानसभा उपचुनावों में ग्वालियर जिले की डबरा सीट से भाजपा की उम्मीदवार हैं।
उल्लेखनीय है कि इमरती देवी के खिलाफ मध्य प्रदेश की डबरा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे कांग्रेस प्रत्याशी सुरेश राजे के लिए चुनाव प्रचार करते हुए कमलनाथ ने रविवार को कहा था, ‘‘डबरा से सुरेश राजे जी हमारे उम्मीदवार हैं। सरल स्वभाव के, सीधे-सादे हैं। ये तो उसके जैसे नहीं हैं। क्या है उसका नाम?’’ इस बीच, वहां मौजूद जनता जोर-जोर से ‘इमरती देवी’, ‘इमरती देवी’ कहने लगी। इसके बाद कमलनाथ ने हंसते हुए कहा, ‘‘मैं क्या उसका (डबरा की भाजपा प्रत्याशी का) नाम लूं। आप तो उसको मेरे से ज्यादा पहचानते हैं। आपको तो मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था। ये क्या आइटम है?’’
इमरती देवी कांग्रेस के उन 22 बागी विधायकों में से एक हैं जिनके विधानसभा से त्यागपत्र देकर भाजपा में शामिल होने के कारण तत्कालीन कमलनाथ सरकार 20 मार्च को गिर गयी थी। इसके बाद शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में भाजपा 23 मार्च को सूबे की सत्ता में लौट आई थी। गौरतलब है कि डबरा समेत राज्य की 28 विधानसभा सीटों पर तीन नवंबर को उपचुनाव होना है। कमलनाथ के इस बयान के बाद भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने तो उनकी निंदा की है साथ में मायावती सहित विपक्ष के कई अन्य नेताओं ने भी उनपर निशाना साधा है और अब राहुल गांधी ने कमलनाथ के बयान से किनारा कर लिया है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.