election_16914 (1)नई दिल्ली। आज नौ राज्यों में तीन लोकसभा सीट और 33 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजे कुछ घंटों के बाद आएंगे। वोटों की गिनती शुरू हो चुकी है। यूपी की 11 विधानसभा सीटों में से 7 सीटों पर समाजवादी पार्टी और 4 सीट पर बीजेपी आगे चल रही है।
वहीं राजस्थान में चार सीटों के शुरुआती मतगणना में बीजेपी 2 सीटों पर आगे चल रही है तो कांग्रेस 2 सीट पर आगे चल रही है।
इसके साथ ही तेलंगाना की मेडक, गुजरात की वडोदरा और यूपी की मैनपुरी लोकसभा सीट के लिए भी नतीजे आएंगे। उत्तरप्रदेश की 11, गुजरात की 9, राजस्थान की 4, असम की 3, पश्चिम बंगाल की 2 विधानसभा सीटों के अलावा आंध्रप्रदेश, छत्तीसगढ़, सिक्किम, त्रिपुरा की एक-एक सीट के लिए नतीजे आने हैं। इन चुनाव नतीजों को एनडीए और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए काफी अहम माना जा रहा है।
उत्तर प्रदेश की मैनपुरी लोकसभा सीट और विधानसभा की 11 सीटों में सहारनपुर, बिजनौर, ठाकुरद्वारा, नोएडा, निघासन, लखनउ पूर्व, हमीरपुर, चरखारी, सिराथू, बलहा और रोहनिया विधानसभा सीटों का आज फैसला होना है। गौरतलब है कि जिन 11 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं उनमें से 10 सीटें बीजेपी के पास थीं और उन पर निर्वाचित विधायकों के सांसद चुन लिए जाने की वजह से वो खाली हुई हैं। रोहनिया सीट बीजेपी की सहयोगी पार्टी अपना दल के पास थी।
बीजेपी के लिए लखनऊ पूर्व और चरखारी सीटें खासतौर से प्रतिष्ठा का सवाल हैं, क्योंकि इन दोनों ही सीटों पर विधायक रहे प्रतिनिधि इस वक्त केंद्रीय मंत्री हैं। चरखारी सीट केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती के जबकि लखनऊ पूर्व सीट कुटीर, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्री कलराज मिश्रा के सांसद चुने जाने के कारण खाली हुई हैं। मैनपुरी लोकसभा सीट सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने खाली की है। इस सीट पर कांग्रेस ने कोई प्रत्याशी नहीं खड़ा किया।
उधर गुजरात में विधानसभा की नौ सीटों और वडोदरा की लोकसभा सीट के लिए भी नतीजे आज आएंगे। विधानसभा की जिन नौ सीटों के नतीजे आने हैं वो हैं- डीसा, मणिनगर, टंकारा, खंभालिया, मांगरोल, तलाजा, आणंद, मातर और लीमखेडा।
नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने की वजह से जहां वडोदरा की लोकसभा सीट खाली हुई, वहीं मणिनगर की विधानसभा सीट भी। मोदी 2002 से ही मणिनगर सीट से विधायक थे। मणिनगर के अलावा जिन आठ और विधानसभा सीटों के नतीजे आने हैं वो सभी सीटें 2012 विधानसभा चुनावों के दौरान बीजेपी ने ही जीती थीं।
वहीं राजस्थान की जिन 4 सीटों पर उपचुनाव हुए वो सभी बीजेपी विधायकों के सांसद चुने जाने से खाली हुई है। ऐसे में बीजेपी की इस सीटों पर दावेदारी मजबूत मानी जा रही है। पश्चिम बंगाल में 2 सीटों पर हुए उपचुनाव में टीएमसी और बीजेपी आमने-सामने हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.