rapeमैनपुरी। दिल्ली के निर्भयाकांड के बाद यौन अपराधों को गंभीरता से लेने की वकालत जोर शोर से उठी थी। लेकिन अब कानूनों में बदलाव कर दुष्कर्म पीड़िताओं जल्‍द न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया गया था। लेकिन मैनपुरी की पीड़िता के साथ प्रसाशन ने जो सुलूक किया वह कानून व्यवस्था के रखवालों की नियत पर गंभीर सवाल खड़ा दिया है। मामला कस्बा करहल से जुड़ा है। यहां की निवासी पीड़िता ने एसपी से शिकायत की कि 23 सितंबर को करहल थाने में उसने दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया।

रेप पीड़िता को मेडिकल के लिए 9 दिन भटकती रही। मैनपुरी के कुर्रा क्षेत्र में उससे दुष्कर्म हुआ। उसके बाद एक महिला डॉक्टर ने उससे और उसके घरवालों से अभद्रता की। यही नहीं उसका इलाज जिले के किसी भी अस्पताल में नहीं होने दिया गया। वह मेडिकल के लिए मैनपुरी से फिरोजाबाद और फिर आगरा रेफर किया गया। नौ दिन बाद उस पीड़िता का मेडिकल हो सका। निभर्या कांड से पहले महिलाओं को जिम्मेदार लोगों का रवैया और बदतर हो चुका है।

करहल पुलिस ने मेडीकल के लिए थाने की महिला सिपाही रूपेश भारती और महिला होमगार्ड श्रीदेवी के साथ उसे जिला चिकित्सालय भेजा गया। महिला डॉक्टर न होने के चलते सीएमएस ने उसे बेवर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेज दिया। यहां महिला डाक्टर पवित्रा सिंह को मेडिकल करना था। डा पवित्रा ने सुबह 11 बजे से दोपहर 3 बजे तक उस पीडिता को बैठाए रखा और मेडिकल के नाम पर रुपयों की मांग की। पीड़िता के चाचा ने विरोध किया तो महिला डाक्टर ने पीडिता और उसके परिजनों को अस्पताल से भगा दिया।

मेडिकल जांच कराने में लगे 9 दिन
पीड़िता का आरोप है कि मेडिकल कराने के लिए पुलिस फिर उसे मैनपुरी लेकर पहुंची। जहां उस पीडित महिला को चिकित्सालय फिरोजाबाद रेफर कर दिया गया। वहां भी उसका मेडिकल जांच नहीं किया गया। महिला चिकित्सालय ने उसे आगरा रेफर कर दिया। आगरा में उसका मेडिकल जांच 2 अक्टूबर को हो सका। जबकि सुप्रीम कोर्ट ने रेप पीड़िता का मेडिकल तत्काल कराने के निर्देश दे रखे हैं। लेकिन पीड़िता का मेडिकल 9 दिन में हो सका।

एसपी ने मामले को गंभीरता से लिया है और मामले में कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। इस मामले में सीएमएस और सीएमओ को भी सुचित कराया गया है। मैनपुरी के सीएमओ डा. के के शर्मा ने कहा कि मामला संज्ञान में है। महिला सिपाही ने डॉक्टर के साथ अभद्रता की दी थी। इसलिए उसका मेडीकल नहीं कराया गया। मामले की जांच की जा रही है। दोषियों पर कडी कार्रवाई होगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.