वायु सेना के सार्जंट द्वारा अपने सहयोगी कॉर्परल को धोखे से मर्डर करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। हत्या का कारण अवैध संबंध बताया जा रहा है। पुलिस को आरोपी सार्जंट सुलेश कुमार के घर से मृतक कॉर्परल विपिन शुक्ला के शव के टुकड़े बरामद हुए हैं। शव के इन टुकड़ों को 16 थैलियों में बंद करके रखा गया था।

खबरों के मुताबिक, विपन शुक्ला का सुलेश कुमार की पत्नी से एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर था। इस अफेयर के चलते कुमार की पत्नी अनुराधा शुक्ला से प्रेग्नेंट भी हो चुकी थीं। शुक्ला खुद भी शादीशुदा थे। अफेयर के कारण कुमार ने धोखे से शुक्ला को अपने घर बुलाया और अपनी पत्नी के भाई के साथ मिलकर शुक्ला का मर्डर कर दिया। सबूत मिटाने के लिए उन्होंने शव को कई टुकड़ों में काटकर 16 थैलियों में पैक कर दिया।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, कुमार ने शुक्ला का मर्डर 8 फरवरी को किया लेकिन मामला शुक्ला की बॉडी के टुकड़े मिलने पर सामने आया। केस की जांच कर रहे एसएसपी स्वपन शर्मा से मिली जानकारी के मुताबिक, जब शुक्ला घर नहीं पहुंचे तो 9 फरवरी को उनकी पत्नी कुमकुम ने उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने खोजी कुत्तों के जरिए जब शुक्ला को खोजना शुरू किया तो खोजी कुत्ते कुमार के घर की तरफ दौड़े, जहां से पुलिस को 16 पॉलिबैग्स में टुकड़ों में बंधे हुए शुक्ला के शव के टुकड़े बरामद हुए।

एसएसपी शर्मा के मुताबिक, जांच में सामने आया है कि मृतक विपन शुक्ला वर्ष 2014 से भिसियान एयरबेस में पोस्टेड थे। उस वक्त उनकी वाइफ उनके साथ रहने नहीं आईं थी। इस दौरान शुक्ला की नजदीकियां कुमार की पत्नी के साथ बढ़ गईं। कुमार की पत्नी अनुराधा ने शुक्ला के सामने शादी का प्रस्ताव भी रखा। जिससे शुक्ला ने यह कहते हुए इनकार कर दिया कि वह पहले से शादीशुदा हैं, इसलिए ऐसा नहीं कर सकते। इस दौरान अनुराधा शुक्ला से प्रेग्नेंट भी हो चुकी थीं। जब कुमार को इस बारे में पता चला तो उन्होंने अनुराधा के भाई शशि भूषण के साथ मिलकर शुक्ला की हत्या की साजिश रची। भूषण मर्चेंट नेवी में कार्यरत हैं।

पुलिस ने कुमार, उनकी पत्नी अनुराधा और अनुराधा के भाई भूषण के खिलाफ हत्या और अपराध के बाद सुबूत मिटाने के जुर्म में शिकायत दर्ज कर ली गई है। एसएसपी शर्मा का कहना है कि पुलिस इस हत्याकांड में अनुराधा की भूमिका की जांच कर रही है। कुमार और अनुराधा को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है, जबकि भूषण अभी फरार हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.