शिवसेना की कथित मोरल पुलिसिंग के विरोध में कोच्ची के मरीन ड्राइव मैदान में ‘किस ऑफ लव’ आंदोलन के दर्जनों वालंटियर्स ने एक-दूसरे को आलिंगन किया और चुंबन किया। वालंटियर्स में केरल के विभिन्न हिस्सों से आए कलाकार, लेखक, कार्यकर्ता और ट्रांसजेंडर शामिल थे। वे मरीन ड्राइव पर जमा हुए थे जहां से बुधवार को शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने कथित तौर पर पुरूषों और महिलाओं के कई जोड़ों को खदेड़ दिया था।

मरीन ड्राइव इलाके में बैठे युवक-युवतियों को शिवसेना के कार्यकर्ताओं की ओर से खदेड़े जाने के बाद फेसबुक पर लोगों के ग्रुप ने कार्यक्रम के आयोजन का फैसला लिया। फेसबुक पर कार्यक्रम के आयोजन के संबंध में सबको सूचित किया गया था। शिवसेना के 6 कार्यकर्ताओं को उपद्रव मचाने और बिना पुलिस की इजाजत के जुलूस निकालने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। केरल पुलिस ने इलाके में सुरक्षा मजबूत कर दी है।

शिवसेना की नैतिक ठेकेदारी को रोकने में नाकाम रहने पर केंद्रीय पुलिस के उप निरीक्षक को निलंबित कर दिया गया। घटना के समय ड्यूटी पर तैनात 8 पुलिसकर्मियों का सशस्त्र आरक्षित पुलिस शिविर में तबादला कर दिया गया।

इस तरह का प्रदर्शन तिरूवनंतपुरम सहित राज्य के विभिन्न हिस्सों में भी आयोजित किया गया जहां सीपीएम के यूथ विंग डीवाईएफआई ने मार्च निकाला। प्रदर्शनकारियों ने भारी भीड़ की मौजूदगी में मरीन ड्राइव पर नुक्कड़ नाटक किए, चित्र बनाए, गाने गाए और एक-दूसरे को आलिंगन किया और चुंबन लिया। एक कार्यकर्ता ने बताया, ‘हम नैतिक ठेकेदारी के खिलाफ एक मंच तैयार करना चाहते हैं।’

बुधवार को शिवसेना कार्यकर्ताओं को रोकने में नाकाम रहने को लेकर तीखी निंदा का सामना कर रही पुलिस ने प्रदर्शन स्थल पर किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की थी।
एक समूह ने फेसबुक पर आंदोलन का आह्वान किया था जिसके बाद ‘किस ऑफ लव’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इससे पहले इसी तरह के ‘किस ऑफ लव’ कार्यक्रम का आयोजन कोच्चि में 2014 में कोझिकोड के होटल में भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं की दादागिरी के खिलाफ किया गया था।

वहीं, शिवसेना की युवा इकाई प्रमुख आदित्य ठाकरे ने इस पूरे मामले से खुद को दूर रखते हुए ट्वीट किया, ‘केरल के कोच्चि की घटना अनावश्यक और शर्मनाक है। पार्टी ऐसे कृत्य का न बचाव करेगी और न समर्थन।’ ठाकरे ने आगे ट्वीट किया, ‘कोच्चि की घटना में शामिल लोगों को पार्टी से अनिश्चितकाल तक के लिए सस्पेंड कर दिया गया है।’

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.