Yeddyurappaयेदयुरप्पा के बागी तेवरों से भाजपा की नींद उड़ी हुई है। सदानंद के खिलाफ येदयुरप्पा ने मोर्चा खोल दिया है। येदयुरप्पा समर्थक गुट ने चीफ मिनिस्टर डी.वी. सदानंद गौड़ा को हटाने के लिए सिर्फ 4 दिनों का वक्त दिया है। उसका कहना है कि बीजेपी 5 जुलाई तक गौड़़ा को हटाकर उनकी जगह पर जगदीश शेट्टार को सीएम बनाए। सीएम सदानंद गौड़ा सोमवार को दिल्ली रवाना होंगे और वहां पार्टी प्रेजिडेंट नितिन गडकरी और बीजेपी के अन्य टॉप नेताओं से मिलेंगे। शुक्रवार को येदयुरप्पा समर्थक 9 मंत्रियों ने सीएम सदानंद गौड़ा को इस्तीफा सौंप दिया था। रविवार को जगदीश शेट्टार के निवास पर येदयुरप्पा समर्थक विधायकों ने एक मीटिंग की और अपनी शक्ति का प्रदर्शन किया। इस बैठक में 51 विधायकों के शामिल होने की बात कही गई है। इस्तीफा देने वाले मंत्रियों में शामिल राजू गौड़ा ने बताया,इस बैठक में 8 एमपी और 15 एमएलसी भी शामिल हुए थे। हमने एक मत से फैसला लिया है कि हम आलाकमान से शेट्टार को सीएम बनाने को कहेंगे। उन्होंने कहा, हमे पूरा विश्वास है कि 5 जुलाई तक एक अच्छा निर्णय आएगा। अगर ऐसा नहीं होता है तो हम फिर से मीटिंग करेंगे और एक अहम फैसला लेंगे। राजू गौड़ा का कहना है कि मीटिंग में शामिल विधायकों और लोकसभा सदस्यों ने येदयुरप्पा और शेट्टार पर अंतिम फैसला छोड़ दिया है और वे उनके द्वारा लिए गए फैसले को मानेंगे|

येदयुरप्पा समर्थक विधायकों ने अपील की है कि आला कमान पार्टी विधायकों की एक मीटिंग बुलाए। राजू गौड़़ा ने कहा कि अगर ऐसा नहीं किया जाता है, तो येदयुरप्पा समर्थक विधायक खुद ही मीटिंग बुलाएंगे। गौरतलब है कि कर्नाटक संकट को सुलझाने के लिए बीजेपी ने धर्मेंद्र प्रधान को भेजा है। 225 सदस्यों के कर्नाटक विधानसभा में बीजेपी के 120 विधायक हैं और येदयुरप्पा का कहना है कि उन्हें 70 विधायकों का समर्थन हासिल है|

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.