burkaमोसुल। इराकी सेना के साथ चला रहे आईएसआईएस के आतंकियों ने अब बुर्के की सहायता लेनी शुरू कर दी है। इराक के मोसूल शहर का वो इलाका जो 4 दिन पहले इस्लामिक स्टेट के जेहादियों ने कब्जा कर लिया था। मोसूल शहर को दो साल पहले ही अपने कब्जे में ले लिया था।  उसके बाद आईएसआईएस ने खुद को खलीफा होने का ऐलान किया। साथ ही सबसे ज्यादा कमाई वाले इराकी शहर को अपना हेडक्वार्टर घोषित कर दिया था।

लेकिन पिछले 4 दिनों में इस पूरे इलाके के हालात पूरी तरह से बदल चुके हैं। जो आतंकी इराक की इस जमीन पर दहशत का कारोबार कर रहे थे। वही आतंकी अब इराकी और पेशमरगा सैनिकों की पकड़ में आने से बचने के लिए बुर्क़े में खुद को छुपा कर मैदान से भागने की कोशिश की है।

पेशमरगा फौजी इस इलाके पर अपनी कामयाबी का परचम लहरा रहे थे तभी उनकी नज़र ऐसे दो बुर्क़ानशीं पर गई, जो जश्न मनाती उस भीड़ से भागने की फिराक में दिखाई दिए। तलाशी लेने पर उनकी  ये असलियत सामने आ गई। इससे आतंकियों के बुजदिल होने और चूहों की तरह  मैदान-ए-जंग से भागने की पोल खुल गई है।

गुरुवार को मोसुल शहर के इस इलाके को पूरी तरह से इस्लामिक स्टेट के आतंकियों के कब्जे से आजाद कराने के बाद इराकी स्पेशल फोर्सेज की टुकड़ियों ने आगे का रुख कर दिया है। ये इलाका एक तरह से सेना की तय की गई कार्रवाई से काफी पहले उसके कब्जे में आ गया है। इस इलाके में आईएस आतंकियों की हिम्मत पूरी तरह से खत्म हो चुकी है और वो बस इराकी फौज से पनाह मांगते हुए किसी तरह इस इलाके से निकल जाना चाहते हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.