जेद्दाह। इराक और सीरिया में सक्रिय इस्लामिक स्टेट आतंकवादियों को नेस्तनाबूत करने के लिए दस अरब देशों ने अमेरिका को सैन्य सहयोग देने पर सहमति दे दी हैं। इनमें खाड़ी सहयोग परिषद के छह देश भी शामिल हैं। सऊदी विदेश मंत्री प्रिंस सऊद अल फैसल की अध्यक्षता में कल यहां हुई एक बैठक के बाद जारी संयुक्त बयान में कहा गया कि बैठक में हिस्सा लेने वाले सभी देशों ने सीरिया और इराक में सक्रिया आईएस के खात्मे के लिए विस्तृत रणनीति पर चर्चा की। बैठक में कुवैत, कतर, बहरीन, ओमान, लेबनान, जार्डन, इराक और मिस्र के विदेश मंत्रियों, अमेरिकी विदेश मंत्री जान कैरी और अरब लीग के महासचिव नबील अल अरबी ने हिस्सा लिया।
तुर्की ने हालांकि इस बयान में हिस्सेदारी नहीं की लेकिन कहा कि वह आईएस के खिलाफ लड़ाई में हिस्सा लेगा। बयान में कहा गया कि दस अरब देश और अमेरिकी आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में एक साथ हैं। इन सभी देशों ने आईएस से निपटने के लिए एक दूसरे को हरसंभव मदद देने पर सहमति दी। संयुक्त बयान में आईएस की वित्तीय सहायता रोकने और उसकी चरमपंथी विचारधारा का विरोध करने के लिए विस्तृत रणनीति को बढ़ावा देने के बारे में भी उल्लेख किया गया।
इससे पहले कैरी ने कहा था कि इराक में आईएस के आतंकवादियों के खिलाफ अभियान में अरब देश एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। उन्होंने अरब देशों के विदेश मंत्रियों के साथ बैठक के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों के खिलाफ अभियान में अरब देशों की अहम भूमिका होगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.