एक भारतीय डॉक्टर ने हजारों फीट ऊपर फ्लाइट में एक पैसेंजर को सही समय पर मेडिकल ट्रीटमेंट दे कर मिसाल पेश किया है। जिसके बाद उनकी कहानी सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रही है। लोग इस भारतीय की काफी तारीफ कर रहे हैं और हो भी क्यों न। हजारों फीट ऊपर आसमान में उन्होंने किया ही कुछ ऐसा है। उन्होंने ऐसे समय में एक मरीज की मदद की जब आसमान में फ्लाईट के अंदर दूसरा विकल्प नहीं था।

दरअसल, भारतीय डॉक्टर अंचिता पंडोह पति सौरभ कुमार के साथ मेलशिया एयरलाइंस की फ्लाइट MH130 में सवार थे। वे न्यूजीलैंड के ऑकलैंड शहर से मलेशिया की राजधानी क्वालालंपुर जा रहे थे। डॉक्टर अंचिता अपनी सीट पर आराम कर रही थीं, तभी उन्होंने फ्लाइट के अंदर कुछ हलचल देखीं। फ्लाइट के क्रू मेंबर इधर-उधर कर रहे थे। उनके चेहरे पर घबराहट साफ तौर से दिख रहा था। तभी उन्होंने एक क्रू मेंबर को ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर आते हुए देखा। तब डॉक्टर अंचिता समझ गईं कि फ्लाइट में किसी पैसेंजर की तबियत बिगड़ गई है।

इस घटना को देखकर बाकी के पैसेंजर भी घबरा गए थे। लोग यही सोच रहे थे भला अब इस पैसेंजर को कैसे बचाया जा सकेगा। तभी डॉक्टर अंचिता अपनी से सीट से उठीं और उस पैसेंजर से पास पहुंची जिसकी तबियत बिगड़ गई थी। अंचिता क्रू मेंबर को अपना परिचय देकर उपचार में जुट गईं। उनके प्रयास से पैसेंजर की हालत में थोड़ा सुधार देखने को मिला।

इसके बाद जहाज की इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई और उसे अस्पताल भेजा जा सका। डॉक्टर अंचिता के इस काम की काफी सराहना हो रही है। उनके पति सुरेश कुमार ने फेसबुक पर पूरी का घटना के ऊपर पोस्ट लिखा है। साथ ही फ्लाइट के अंदर की एक तस्वीर भी शेयर की है। इस पोस्ट को काफी सराहना मिल रही है। लोग कमेंट के जरिए डॉक्टर को सैल्यूट कर रहे हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.