पुणे के हिंजवाडी में सॉफ्टवेयर कंपनी इंफोसिस के ऑफिस में एक महिला इंजीनियर की गला दबा कर हत्या करने का मामला सामने आया है। सोमवार सुबह पुलिस ने इस मामले में एक सिक्यूरिटी गार्ड को हिरासत में लिया है।

एक महीने के भीतर हत्या की दूसरी घटना
पुलिस के मुताबिक, राजीव गांधी इंफोटेक पार्क के फेज 2 में बने इंफोसिस के ऑफिस की नौवीं मंजिल में केरल की रहने वाली महिला इंजीनियर के. रासिला राजू का शव मिला है। सहायक पुलिस आयुक्त वैशाली जाधव ने बताया कि, यह घटना शाम में पांच बजे के आसपास हुई। पुलिस को इसकी जानकारी देर शाम करीब आठ बजे मिली। जांच में सामने आया है कि उसकी हत्या कंप्यूटर के तार से गला घोट कर की गई थी। बता दें कि पुणे शहर में एक महीने के भीतर महिला सॉफ्टवेयर इंजीनियर की हत्या का ये दूसरा मामला सामने आया है।

रविवार को भी आई ती ऑफिस
पुलिस ने बताया कि, जांच में सामने आया है कि रासिला रविवार को अपने दो टीम मेंबर जो बेंगलुरु से ऑनलाइन थे उनके साथ मिलकर काम कर रही थी। उनके मैनेजर लगातार उन्हें कॉल करने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन उनका फोन पिक नहीं हो रहा था। इसके बाद मैनेजर ने सिक्यूरिटी गार्ड को फोन कर रासिला को देखने के लिए कहा। सिक्यूरिटी गार्ड जब वहां पहुंचा तो रासिला अपने डेस्क के पास गिरी हुई थीं। उनके गले में कंप्यूटर का तार लिपटा हुआ था। पुलिस ने इस मामले में मर्डर का केस दर्ज कर उस समय ड्यूटी पर तैनात सिक्यूरिटी गार्ड को हिरासत में ले लिया है। पुलिस ने आसपास लगे सभी सीसीटीवी फुटेज को भी अपने कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है।

26 दिसंबर 2016 को भी हुई थी हत्या
पुणे की केपजेमनी कंपनी में काम करने वाले सॉफ्टवेयर इंजीनियर अंतरा देबनंद दास की एकतरफा प्यार में 26 दिसंबर 2016 को हत्या कर दी गई थी। इस मामले में बेंगलुरु के एक युवक को गिरफ्तार किया गया था। अंतरा दास पर पुणे के बाहरी हिस्से में तलावड़े के कानबाय चौक के पास एक धारदार हथियार से हमला किया गया था।

2015 में इंफोसिस कैंपस में हुआ था रेप
पुणे के इंफोसिस कैंपस में ही दिसंबर 2015 में एक महिला संग कैंटीन में काम करने वाले दो लोगों ने रेप किया था। पीड़ित महिला कैंटीन में काम करती थी, वह वॉशरूम गई थी। उसके साथ वहीं पर कथित तौर पर रेप किया गया। पीड़ित के मुताबिक आरोपियों ने रेप के दौरान उसके फोटोग्राफ भी लिए थे और वे उसे ब्लैकमेल भी कर रहे थे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.