02_04_2016-02china

खुद पर आतंकवादी देश का ठप्पा लगने की आशंका से बौखला कर बेहूदी बयानबाजी कर रहे पाकिस्तान को उसके सबसे करीबी मित्र ने भी कड़ा झटका दिया है। एक हफ्ते के अंदर दूसरी बार चीन ने पाकिस्तान की मीडिया में युद्ध की स्थिति में उसका साथ देने और कश्मीर मुददे पर उसके दावे का समर्थन करने वाली खबरों का सोमवार को खंडन किया।
चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने किया खंडन
लाहौर में पाकिस्तान के महावाणिज्यदूत यू बोरेन की कथित टिप्पणी के बारे में पूछने पर कि क्या युद्ध होने या कश्मीर के मुददे पर चीन इस्लामाबाद का समर्थन करेगा तो चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने मीडिया से कहा कि राजदूत की इस तरह की किसी टिप्पणी के बारे में उन्हें जानकारी नहीं है, लेकिन समसामयिक मुददे पर चीन का रूख स्थिर और स्पष्ट है।
उन्होंने कहा कि पाकिस्तान और भारत दोनों के पड़ोसी और दोस्त हैं और हमें उम्मीद है कि दोनों देश अपने मतभेदों का समाधान वार्ता और विचार विमर्श, स्थिति को नियंत्रित और प्रबंध कर करेंगे और दक्षिण एशिया की शांति और स्थिरता तथा क्षेत्र की प्रगति के लिए काम करेंगे। कश्मीर मुददे के संबंध में उन्होंने कहा कि हमारा मानना है कि यह मुददा इतिहास से विरासत में मिला है। हमें उम्मीद है कि संबंधित पक्ष शांतिपूर्ण तरीके से और उचित तरीके से मुददे का सधान करेंगे। वह पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ से यू की मुलाकात के दौरान महावाणिज्य दूत की टिप्पणियों के बारे में पूछे गए सवालों का जवाब दे रहे थे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.