पाकिस्तान के लाहौर में सोमवार शाम हुए बम ब्लास्ट में 10 लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में लाहौर ट्रैफिक पुलिस के डीआईजी और पंजाब पुलिस के एसएसपी भी शामिल हैं। इस ब्लास्ट में करीब 69 लोग घायल हुए हैं। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस धमाके की जिम्मेदारी पाकिस्तानी तालिबान गुट जमात-उल-अहरार ने ली है।

जानकारी के मुताबिक, लाहौर के पंजाब पूर्वांचल एसेंबली के पास एक समूह द्वारा धरना-प्रदर्शन किया जा रहा था। उसी समय बहुत तेज धमाका हुआ, जिसमें कई लोगों के परखच्चे उड़ गए। इस धमाके में डीआईजी अहमद मोबीन और एसएसपी जाहिद गोंडाल सहित करीब 10 लोगों की मौत हो गई और 5 दर्जन से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हैं।

पाकिस्तान के स्थानीय अखबार के मुताबिक, लाहौर के मॉल रोड पर दवा निर्माताओं और दुकानदारों का समूह पंजाब सरकार के नए ड्रग बिल के खिलाफ प्रदर्शन कर रहा था। उसी समय पुलिस के आलाधिकारी प्रदर्शनकारियों को भगाकर ट्रैफिक ठीक कर रहे थे। तभी एक आत्मघाती बाइक सवार आया और उसके ट्रीगर दबाते ही बहुत बड़ा धमाका हुआ।

इस धमाके की आवाज 10 किमी तक सुनी गई। इसकी सूचना मिलते हुए सुरक्षा बलों ने इलाके को चारों तरफ से घेर लिया। बचाव और राहत कार्य शुरू कर दिए गए। एंबुलेंस के जरिए घायलों को मायो अस्पताल और गंगा राम अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताते चलें कि लाहौर में आतंकी हमले के मद्देनजर पहले ही अलर्ट जारी किया गया था।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.