aleppoसीरिया। सीरिया के अलेप्पो के विद्रोहियों के कब्जे वाले क्षेत्र में रूसी विमानों ने भारी बमबारी की जिसमें 25 लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में बच्चे भी शामिल है। मानवाधिकार संगठन के अनुसार पिछले कुछ दिनों के भीतर की यह सबसे बड़ी बमबारी है।

बमबारी सीरिया की सरकार के विमानों द्वारा अलेप्पो शहर में कुछ समय के लिए बमबारी रोके जाने के बाद शुरू की गई है। सीरिया की सेना ने बमबारी तथा जमीनी तोपों की गोलाबारी इसलिए रोकी थी कि लड़ाई में फंसे नागरिक शहर से निकल सकें।

अभी पिछले महीने युद्ध विराम समाप्त होने के बाद भी सीरिया तथा रूस के विमानों ने बमबारी शुरू की थी लेकिन नागरिकों को निकलने के लिए इधर उसने कुछ समय के लिए इसे रोक दिया था। इस बीच रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन ने फ्रांस की अपनी प्रस्तावित यात्रा स्थगित कर दी है।

सोमवार को फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने रूसी अधिकारियों से कहा था कि अलेप्पो के हवाई हमले के लिए उन्हें युद्धापराध का सामना करना पड़ सकता है। मंगलवार को ब्रिटेन के विदेश मंत्री बोरिस जान्सन ने हाऊस आफ कामन्स में कहा था कि सीरिया के कारण रूस अन्तर्राष्ट्रीय जगत में अलग-थलग पड़ सकता है। रूस नागरिकों पर हवाई हमले का खंडन करता रहा है।

ब्रिटेन स्थित सीरियन आब्जर्वेटरी फार ह्यूमन राइट्स ने कहा है कि मंगलवार को अलेप्पो में रूसी विमानों ने बड़े पैमाने पर बमबारी की जिसमें 25 लोग मारे गए। रूसी विमानों ने बंकर वस्टर तथा अन्य बम गिराए जिसमें बच्चे भी मारे गए। बस्तन अल कास्र तथा फारदोस के पास सघन बमबारी की गई।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.