watermark-php

मुजफ्फरनगर
डेंगू और बुखार के साथ चिकनगुनिया भी अपने तेजी से अपने पांव पसार रहा है। जिम्मेदार विभाग भी इसे रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाने में नाकाम साबित हो रहे हैं। सोमवार को कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय बुढ़ाना की 20 छात्राओं को एक बाद एक को चिकनगुनिया ने अपनी चपेट में ले लिया। जानकारी होने पर वार्डन ने छात्राओं को सीएचसी पर भर्ती कराया और उपचार दिलाने के बाद पूरी तरह से स्वस्थ होने तक परिजनों के साथ भेज दिया।
जानकारी के मुताबिक, बुढ़ाना के कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में देर रात 10 बजे दो छात्राओं को बुखार हुआ। वार्डन इन छात्राओं को लेकर सीएचसी में पहुंची और इनका उपचार कराया। इसके थोड़ी देर बाद ही एक अध्यापिका फिर से तीन बालिकाओं को लेकर पहुंची। देखते ही देखते सीएचसी पर बीमार छात्राओं की लाइन लग गई। डॉक्टरों ने तुरंत ही इन छात्राओं का उपचार शुरू कर दिया। इधर, स्कूल से सभी छात्राओं के परिजनों को सूचना दे दी गई। रात लगभग 12 बजे तक सभी छात्राओं के परिजन भी बुढाना सीएचसी पर पहुंच गए थे। वार्डन ने रात में ही इसकी जानकारी बालिका शिक्षा समन्वयक सुशील कुमार को दी। सुशील कुमार ने बीएसए को इस बारे में अवगत कराया।
सीएचसी प्रभारी ने बीएसए से सभी बालिकाओं को पूरी तरह से स्वस्थ होने तक उनके परिजनों के साथ घर भेजने के लिए कहा। 12 बजे के बाद छात्राओं को उनके परिजनों के साथ छुट्टी देकर भेज दिया गया। बीएसए चंद्रकेश यादव ने बताया कि बुखार से पीड़ित सभी छात्राओं को छुट्टी दिलवा दी गई थी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.