भदोही। सोनभद्र जिले के उभ्भा गांव में जमीन पर कब्जे को लेकर हुए नरसंहार की पहली बरसी पर राजनीति फिर गरम हो रही है। गुरुवार को उभ्भा  गांव जा रहे उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को भदोही में गिरफ्तार किया गया है। उनको गोपीगंज के एक गेस्ट हाउस में रखा गया है।

पुलिस की गिरफ्त में आने वाले लल्लू ने कहा कि दलित-आदिवासियों पर हमला करने वाली भाजपा सरकार उनके अधिकारों की लड़ाई से इतना डरती क्यों है। कांग्रेस ने नरसंहार के दौरान भी उनके खिलाफ अत्याचार को जोर-शोर से उठाया था। अब तो हम उभ्भा के नरसंहार में मृत आदिवासियों की स्मृति में पीडि़तों से मिलने जा रहे थे। इसके बाद भी हमको भारी पुलिस बल ने रास्ते में रोक कर गिरफ्तार कर लिया है। यह तो लोकतंत्र के खिलाफ है। उत्तर प्रदेश सरकार हताश होकर तानाशाही पर उतर आई है।

सोनभद्र जा रहे कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को पुलिस ने गोपीगंज में रोकने के बाद नजरबंद किया है। गोपीगंज पुलिस ने इस कार्रवाई का कारण शांति भंग होने आशंका बताया है। उन्हेंं गोपीगंज गेस्ट हाउस में नजरबंद कर दिया गया है। इस दौरान मौके पर बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता जमा हैं।

बीते वर्ष 16 जुलाई को उभ्भा गांव में 90 बीघा जमीन के विवाद में 11 आदिवासियों की हत््या कर दी गई थी। इस मामले में प्रधान सहित अभी तक 67 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें मध्य प्रदेश के भी लोग हैं। इन सभी के खिलाफ हत्या, हत्या का प्रयास सहित एससी/एसटी आदि धाराओं में मुकदमा दर्ज है। जमीन पर कब्जे को लेकर हुई इस हत्या में मुख्य आरोपी मूॢतया ग्राम्य पंचायत के प्रधान यज्ञदत्त सहित कुल 78 लोगों पर मुकदमा दर्ज था। जिसमें से 67 आरोपी गिरफ्तार हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.