बीजेपी के सहयोगी और निषाद पार्टी के अध्यक्ष संजय निषाद लखनऊ में बीजेपी दफ़्तर पहुंचे. इस दौरान उन्होंने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर बड़ा बयान दिया है. संजय निषाद ने कहा कि ”बीजेपी से विलय नहीं करेंगे, निषाद पार्टी अलग से अपने पार्टी चिन्ह से चुनाव लड़ेगी.”
बता दें कि यूपी चुनाव को लेकर लखनऊ में बीजेपी की बड़ी बैठक चल रही है. आज बीजेपी के यूपी चुनाव प्रभारी और केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान की संजय निषाद के साथ बैठक है. मिशन 2022 को लेकर बीजेपी ने तैयारी तेज कर दी है. थोड़ी देर में यूपी चुनाव प्रभारी की प्रेस कॉन्फ्रेंस भी है.
बीजेपी के साथ गठबंधन का एलान कर चुके निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय निषाद रथ यात्रा निकालकर 2022 विधानसभा चुनाव के लिए बिगुल फूंक रहे हैं. निषाद समुदाय में अच्छी पकड़ वाले संजय निषाद बीजेपी के साथ मिलकर निषाद समुदाय को जोड़ने में जुटे हैं. जिसके चलते उन्होंने निषाद आरक्षण उत्थान रथ यात्रा की शुरुआत की है.
वोटर अभी बेहोश हैं, जिसे होश में लाना है- संजय निषाद
गुरुवार को कानपुर देहात में निषाद ने कहा कि वह वोटरों को उनकी ताकत का एहसास कराना चाहते हैं. वोटर अभी बेहोश हैं, जिसे होश में लाना है. निषाद समुदाय ने संविधान में महत्वपूर्ण भूमिका भी निभाई है और संविधान ने सभी को बराबरी का दर्जा भी दिया है, लेकिन अभी तक निषाद समुदाय को समाज में वह स्थान नहीं मिला है, और ना ही किसी पार्टी ने दिया है, लेकिन बीजेपी से उनकी उम्मीदें बंधी हुई हैं और वह विश्वास रखते हैं कि, भारतीय जनता पार्टी के साथ जोड़ के वह निषाद समुदाय के लिए कुछ कर पाएंगे.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.