दिल्ली के रोहिणी कोर्ट के रूम नंबर 207 में दिन दहाड़े गैंगवॉर में तीन बदमाश मारे गए. कोर्ट में सुनवाई के दौरान फायरिंग की घटना सामने आने के बाद राष्ट्रीय राजधानी में हड़कंप मच गया. पेशी के दौरान ही बदमाशों ने गैंगस्टर जितेन्द्र गोगी पर गोलियां बरसा दी. इसके बाद गोगी की सुरक्षा में लगे जवानों ने भी जवाब में गोलीबारी की. इस घटना में दो बदमाश मौके पर ही मारे गए. दोनों बदमाश वकील की ड्रेस में आए थे.
खबरों के मुताबिक, गोगी की सुरक्षा में लगे जवानों ने पच्चीस से तीस गोलियां चलाईं. जितेन्द्र गोगी ने अस्पताल में दम तोड़ दिया. गोगी को पिछले साल अप्रैल में गिरफ्तार किया गया था. गोगी की गिरफ्तारी से पहले दिल्ली पुलिस ने 4 लाख और हरियाणा पुलिस ने उसके ऊपर 2 लाख रुपये का इनाम रखा था.
शूट आउट को ऐसे दिया गया अंजाम
घटना के वक्त कोर्ट रूम में मौजूद वकील ललित कुमार ने कहा कि जब हम कोर्ट रूम के बाहर बेल बॉण्ड वेरिफाई कर रहे थे, इतने में ही गोलियां चलने की आवाज आई. जैसे ही हम आगे बढ़े तो बहुत सारी गोलियां चलने की आवाज आई. इतने में पता चला कि गैंगस्टर गोगी को तीन गोलियां लगी. वो जख्मी हो गया. गोगी को गोली मारने आए लोग वकील की ड्रेस में आए थे.
ललित ने आगे कहा कि जिस वक्त फायरिंग हुई कोर्ट रूम में जज भी मौजूद थे और करीब पांच से दस वकील मौजूद थे. गोगी के सिक्योरिटी में तैनात जवान ने जब गोली चलाई तो मौके पर ही दो वकील की ड्रेस में आए बदमाशों की मौत हो गई. यह वाकया होते हुई जज उठकर चले गए थे.
एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी एडवोकेट सुनील कुमार ने बताया कि हम कॉम्प्लैक्स के अंदर थे. जैसे ही हमें यह पता चला कि गोली चली है कोर्ट के अंदर तो बाद में हमने कंफर्म किया कि ये सही है. कोर्ट में कभी-कभी चेकिंग होती है और कभी कभी नहीं भी होती है. उन्होंने कहा कि ऐसा लग रहा था कि आज कुछ होने वाला है क्योंकि काफी गतिविधियां हो रही थी. उन्होंने कहा कि कोर्ट के अंदर गोली इससे बड़ा और क्या सिक्योरिटी फेल्योर होगा.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.