hockey india
hockey india

नई दिल्ली, एजेंसी : हॉकी इंडिया और भारतीय हॉकी संघ (आइएचएफ) में चल रही लड़ाई के कारण भारतीय हॉकी का बुरा हाल है. भारतीय ओलंपिक संघ (आइओए) ने हॉकी में गुटबाजी को खत्म करने और हॉकी इंडिया व आइएचएफ में सुलह कराने के लिए तीन सदस्यीय समिति गठित की है.

आइओए के कार्यकारी अध्यक्ष विजय कुमार मल्होत्रा ने शुक्रवार को बताया, ‘हमने फिर से दोनों गुटों को एक साथ लाने के लिए पहल की है. इसके लिए कुश्ती संघ के पूर्व अध्यक्ष जीएस मंडेर की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय समिति गठित की गई है. समिति ने दोनों गुटों को पत्र लिखे हैं और उनसे बातचीत चल रही है.
भारतीय हॉकी टीम लंदन ओलंपिक खेलों में 12 टीमों के बीच सबसे आखिरी स्थान पर रही थी. उसने टूर्नामेंट में अपने सभी मैच गंवाए. मल्होत्रा ने लंदन ओलंपिक के पदक विजेताओं के लिए आयोजित एक पुरस्कार वितरण समारोह से इतर पत्रकारों से कहा, ‘हमें अंतरराष्ट्रीय हॉकी संघ से भी हॉकी इंडिया और आइएचएफ को साथ लाने के निर्देश मिले हैं. हॉकी हमारा राष्ट्रीय खेल है और उम्मीद है कि हम धीरे-धीरे फिर से इस खेल में अच्छा प्रदर्शन करने में सफल रहेंगे. उन्होंने बताया कि समिति 21 अगस्त को दोनों ही गुटों का पक्ष सुनने के बाद 31 अगस्त को अपनी रिपोर्ट पेश करेगी.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.