उप्र में लगातार बढ़ते स्वाइन फ्लू के असर को लेकर केन्द्र सरकार चिन्तित है। इस मामले को लेकर शुक्रवार को केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से उनके सरकारी आवास पर मुलाकात की और इस मसले पर केन्द्र से अधिक से अधिक सहयोग का आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री ने स्वाइन फ्लू को लेकर राज्य सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयासों से केन्द्रीय मंत्री को अवगत कराया। सीएम ने श्री नड्डा से प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं को सुदृढ़ करने के लिए केन्द्र सरकार से अधिक से अधिक सहयोग एवं मदद उपलब्ध कराने का आग्रह किया।

मुलाकात के दौरान सीएम ने कहा कि स्वाइन फ्लू को लेकर प्रदेश सरकार ने सरकारी अस्पतालों में नि:शुल्क दवाइयों की उपलब्धता के साथ-साथ मुफ्त जांच और एक्स-रे की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने राज्य सरकार द्वारा स्वास्य सेवाओं को लेकर शुरू की योजनाओं का बखान किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश एक विशाल राज्य है जहां मेडिकल कॉलेजों की संख्या एवं स्थान आबादी की जरूरतों के मुताबिक नहीं है। राज्य में ज्यादातर जिले ऐसे हैं जहां मेडिकल कॉलेज उपलब्ध नहीं हैं। प्रदेश सरकार अपने सीमित संसाधनों से नये राजकीय मेडिकल कॉलेज स्थापित कर रही है। इसके बावजूद जनता को पर्याप्त चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिए ज्यादा से ज्यादा जिलों में मेडिकल कॉलेजों की स्थापना जरूरी है। इसके दृष्टिगत बस्ती, फि रोजाबाद, बहराइच, फैजाबाद और शाहजहांपुर के जिला अस्पतालों को भारत सरकार की योजना के तहत मेडिकल कॉलेज के तौर पर उच्चीकृत करने का निर्णय लिया गया है। प्रदेश सरकार योजना के प्राविधानों के अनुरूप राज्यांश उपलब्ध कराने के लिए सहमत है। उन्होंने स्वास्थ्य मंत्रालय की योजना के तहत इन जनपदों में मेडिकल कॉलेजों की स्थापना के लिए केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री से शीघ्र धनराशि उपलब्ध कराने का अनुरोध किया है। उन्होंने केन्द्रीय मंत्री से आग्रह किया कि रायबरेली की तर्ज पर पूर्वांचल, बुन्देलखण्ड तथा रूहेलखण्ड क्षेत्रों में भी एम्स की स्थापना के लिए भारत सरकार को प्रभावी कदम उठाने चाहिए। उन्होंने आश्वस्त किया कि इन संस्थानों की स्थापना के लिए राज्य सरकार द्वारा प्राथमिकता पर आवश्यक भूमि की व्यवस्था कराई जाएगी। श्री यादव ने केन्द्रीय मंत्री को स्वाइन लू के उपचार के सम्बन्ध में राज्य सरकार द्वारा उठाए गए कदमों की जानकारी देते हुए अनुरोध किया कि इस रोग के इलाज के लिए भारत सरकार को टीका आदि प्रदेश सरकारों को समय से उपलब्ध कराए जाएं। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने राज्य सरकार के प्रयासों की सराहना करते हुए इस सम्बन्ध में भारत सरकार के पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया। उन्होंने आशा व्यक्त की कि प्रदेश सरकार द्वारा उठाए गए कदमों से स्वास्थ्य सेवाएं और बेहतर बनेंगी। इस अवसर पर चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अहमद हसन, मुख्य सचिव आलोक रंजन, प्रमुख सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण अरविन्द कुमार सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

akhilesh-yadav-JP329

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.