cbiबदायूं हत्या कांड में पांच संदिग्धों को स्पष्टतया संदेह के दायरे से बाहर करते हुए सीबीआई ने बसपा के स्थानीय विधायक सिनोद कुमार शाक्य से इलाके में दो किशोरियों की हत्या के सिलसिले में पूछताछ की है। सीबीआई के सूत्रों ने कहा कि शाक्य से पूछताछ की गई क्योंकि उनकी भूमिका संदिग्ध पाई गई है। सूत्रों ने कहा कि जांच के दौरान पता चला कि वह विभिन्न तरह का बयान देने के लिए परिवार को संभवत: प्रभावित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि एजेंसी ने मामले को लगभग सुलझा लिया है और मामले में गिरफ्तारी करने से पहले वह अंतिम फोरेंसिक रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।
सूत्रों ने संकेत दिया कि परिवार के कुछ सदस्यों की गिरफ्तारी हो सकती है अगर उनकी संलिप्तता के साक्ष्य मिलते हैं। सीबीआई के सूत्रों ने सोमवार को कहा था कि आरोपियों के हत्या में संलिप्त होने के कोई साक्ष्य नहीं हैं और दोनों लड़कियों के मरने से पहले उनका यौन उत्पीडऩ नहीं हुआ। एजेंसी ने पांच आरोपियों पप्पू, अवधेश और उर्मिल यादव (तीनों भाई) और सिपाही छत्रपाल यादव एवं सर्वेश यादव को गिरफ्तार किया था। सीबीआई ने हैदराबाद स्थित सेंटर फॉर डीएनए फिंगरप्रिंटिंग एंड डायग्नोस्टिक (सीडीएफडी) की मदद ली थी जिसने दो लड़कियों के यौन उत्पीडऩ से इंकार किया था।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.