coal india
coal india

कोल ब्लॉक आवंटन और इस्तेमाल में गड़बडिय़ों की जांच कर रही सीबीआइ ने केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) से जांच रिपोर्ट देने के लिए और समय मांगा है.

सीवीसी के निर्देश पर सीबीआइ प्रारंभिक जांच (पीई) दर्ज कर मामले की तहकीकात कर रही है. तीन माह की तय समय सीमा 31 अगस्त को खत्म हो गई. जांच रिपोर्ट नहीं तैयार हो पाई क्योंकि मामला उलझा हुआ है. एजेंसी के सूत्रों का कहना है कि इसमें बदलाव हो सकता है. वे सीवीसी से और समय मांग सकते हैं. माना जा रहा है कि इस मांग के साथ एजेंसी ने सीवीसी को प्रथम दृष्टया मिली अनियमिताओं और लाभान्वित  कंपनियों से अवगत कराया है. इस बीच सीबीआइ की टीम छत्तीसगढ़ और झारखंड में कैंप करके जांच के दायरे में आए संबंधित कंपनियों के अधिकारियों से पूछताछ कर रही है.  कोल ब्लॉक आवंटन से लाभान्वित होने वाली कम से कम दस कंपनियां सीबीआइ जांच के दायरे में हैं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.