लखनऊ। मन में यदि दृढ़ संकल्प हो तो इंसान क्या कुछ नहीं कर सकता है। ऐसा ही एक नमुना उत्तर प्रदेश के सर्वेश वर्मा ने कर दिखाया है। यूपी बोर्ड के 10वीं में टॉप करने के बाद उनके हौसले बुलंद हो गये हैं। हरैया के सहसरांव गांव के रहने वाले सर्वेश की माली स्थिति अच्छी नहीं है। उसके पिता स्वामीनाथ गांव में सब्जी बेचने के काम में लगे हुए हैं हालांकि वे खेती भी करते हैं लेकिन केवल एक काम से उनको घर चला पाने में काफी मुश्किल होती है।इतना करने के बाद भी सर्वेश के पिता के लिए घर चलाना काफी दिक्कतों से भरा है लेकिन बेटे की कामयाबी से उनको काफी खुशी मिली है और वे चाहते हैं कि उनका बेटा आगे चलकर आईएएस अफसर बने जैसा कि उसका सपना देख रहे है। सर्वेश की भी दिली इच्छा है कि वह आईएएस अफसर बने और देश की सेवा करे। सर्वेश अपने घर की माली स्थिति को लेकर काफी चिंतित रहते हैं और वह चाहते हैं कि इस समस्या से उनके परिवार को जल्द निजात मिले। एक न्यूज चैनल से बात करते हुए उन्होंने कहा कि मैंने काफी मेहनत की थी जिसका फायदा मुझे मिला है। हालांकि मेरे लक्ष्य से मुझे अंक कम हासिल हुए है। उसने कहा कि मेरा लक्ष्य 98 प्रतिशत नंबर प्राप्त करने का था, लेकिन मैं 96.8 प्रतिशत नंबर ही हासिल कर सका। गौरतलब है कि हरैया के जीएसए एकेडमी में पढऩे वाले सर्वेश को 600 में से 581 अंक हासिल किये हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.