hafiz-saeed_295x200_61410839672नई दिल्ली/इस्लामाबाद। पाकिस्तान ने तर्क दिया कि मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड आतंकवादी हाफिज सईद के खिलाफ कोई मामला नहीं है और वह देश में कहीं भी आने-जाने के लिए स्वतंत्र हैं। भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने कहा, हाफिज सईद पाकिस्तानी नागरिक है, वह (देश में) कहीं भी घूमने के लिए स्वतंत्र है। इसलिए क्या समस्या है। वह एक स्वतंत्र नागरिक है, जहां तक पाकिस्तान का सवाल है तो वहां कोई मुद्दा नहीं है। उनसे पूछा गया था कि सईद नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तानी सेना के साथ मिलकर काम क्यों कर रहा है? बासित ने एक आयोजन के बाद संवाददाताओं से कहा, अदालतें पहले ही उसे बरी कर चुकी हैं। उसके खिलाफ कोई मामला लंबित नहीं है। भारत का कहना है कि सईद 2008 में हुए मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड था। इन हमलों में 166 लोग मारे गए थे। भारत ने पाकिस्तान में इस बारे में चल रहे मुकदमे में विलंब पर विरोध व्यक्त किया है। भारत ने पाकिस्तान की इस टिप्पणी आलोचना की कि हाफिज सईद के खिलाफ कोई मामला नहीं है और वह कहीं भी जाने के लिए स्वतंत्र है। भारत ने कहा कि यह आतंकवादी मुंबई हमलों का सरगना है और पाकिस्तान को आतंकवादी संगठन जमात उद दावा के प्रमुख पर मामला दर्ज कर मुकदमा चलाना चाहिए।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सैयद अकबरुद्दीन ने कहा, हाफिज सईद पर हमारे विचार बिल्कुल स्पष्ट हैं। हमारे लिए वह मुंबई हमलों का दुष्ट सरगना है और मुंबई की सड़कों पर हत्या करने के लिए भारतीय अदालत में वह आरोपी है। हमने पाकिस्तान से बार-बार कहा है कि उसे पकड़ा जाना चाहिए और उस पर न्यायिक प्रक्रिया चलाई जानी चाहिए।
उन्होंने कहा, उसे कभी भी 26/11 के लिए गिरफ्तार नहीं किया गया। अत: वह सिर्फ इसलिए स्वतंत्र है क्योंकि वह पाकिस्तानी नागरिक है।
पाकिस्तान के रुख के बारे में पूछने पर कि उसकी संलिप्तता को लेकर ज्यादा साक्ष्य नहीं है, अकबरुद्दीन ने कहा, इस मामले में 99 फीसदी साक्ष्य पाकिस्तान में है। ऐसा इसलिए कि पूरा षड्यंत्र पाकिस्तान में रचा गया। इस कृत्य की योजना पाकिस्तान में बनाई गई। उन्होंने कहा, इस कृत्य के लिए वित्तपोषण का पता पाकिस्तान में चला और इसमें शामिल लोग पाकिस्तानी थे। इसलिए हमारा हमेशा से मानना रहा कि यह पाकिस्तान की जिम्मेदारी है कि हाफिज सईद जैसे अपराधियों पर मुकदमा चलाया जाए और मुंबई में अपराध के लिए न्याय किया जाए।
अपनी भारत विरोधी मुहिम के लिए जाने जाने वाले और अमेरिका द्वारा आतंकवादी के रूप में घोषित सईद ने हाल में भारत पर ‘जल आतंकवाद’ में लिप्त होने का आरोप लगाया था।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बाढ़ संकट में पाकिस्तान की मदद किए जाने की पेशकश के संबंध में सईद ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा था, एक तरफ भारत सरकार ने बिना सूचना दिए नदियों में पानी छोड़ दिया और गलत सूचना दी, वहीं दूसरी तरफ विडंबना यह है कि वह मदद की पेशकश भी कर रही है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.