क्या आप शिफ्ट सिस्टम में काम करते हैंघ् यदि हां तो आपको इस रिसर्च के नतीजों से दुखद आश्चर्य होगा जिसमें कहा गया है कि शिफ्ट सिस्टम में काम करने से आपकी उम्र में 4 साल कम होते जा रहे हैं। हाल ही में हुए एक शोध से यह नतीजे निकले हैं। दरअसलए छत्तीसगढ़ के पंडित रविशंकर शुक्ल यूनिवर्सिटी के लाइफ साइंस डिपार्टमेंट ने एक शोध में पाया है कि कभी रात तो कभी सुबहए यानी अलग.अलग शिफ्ट में काम करने वाले लोगों की बायलॉजिकल क्लॉक की लय बार.बार बदलती रहती है। इसका सीधा असर व्यक्ति के श्लाइफ स्पैनश् पर पड़ता है और इस कारण उम्र 4 साल तक घट सकती है।दक्षिण.पूर्व रेलवे कर्मचारियों पर किए गए इस शोध में पाया गया है कि शिफ्ट में काम करने वाले लोगों की उम्र लगभग चार साल तक घट सकती है। यहां चल रही कार्यशाला में और भी तरह.तरह के रिसर्च पेपर पेश किए जा रहे हैं। राजधानी रायपुर स्थित इस यूनिवर्सिटी के लाइफ साइंस विभाग के प्रफेसर एण्केण् पति ने इस शोध की जानकारी क्रोनोबायलॉजी के न्यू ट्रेंड पर आयोजित एक वर्कशॉप में दी। अहमदनगर से आए श्इंडियन सोसायटी ऑफ क्रोनोबायलॉजीश् के पूर्व अध्यक्ष डॉक्टर डीण्एसण् जोशी और जमशेदपुर के डॉक्टर केण्केण् शर्मा ने ह्यूमन और एनिमल बायलॉजिकल क्लॉक की जानकारी दी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.