sansadदेश में सात अप्रैल से शुरू होने वाले लोकसभा चुनाव को शांतिपूर्ण एवं हिंसामुक्त माहौल में सम्पन्न कराने के प्रयासों के तहत अर्धसैनिक बलों के दो लाख से अधिक जवानों कई हजार वाहनों और करीब एक दर्जन हेलीकाप्टर तैनात किये जायेंगे। नौ चरणों में 543 लोकसभा सीटों के लिए करीब दो महीने चलने वाला लोकसभा चुनाव के बारे में गृह मंत्रालय ने व्यापक तैनाती योजना बनाई है जिसमें 81ण्4 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे और इस संबंध में हिंसा प्रभावित राज्यों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। गृह मंत्रालय में संयुक्त सचिव एम ए गणपति ने कहा कि यह विस्तृत कार्य है। लेकिन हम शांतिपूर्ण चुनाव सम्पन्न कराना चाहते हैं। हम नक्सल प्रभावित इलाकोंए जम्मू कश्मीर और पूर्वोत्तर में विशेष उपाय कर रहे हैं। देश के विभिन्न क्षेत्रों में सीआरपीएफए बीएसएफए आईटीबीपीए एसएसबी और असम राइफल्स जैसे बलों के दो लाख जवानों को तैनात किया जा रहा है। गृह मंत्रालय चुनाव के दौरान अर्धसैनिक बलों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेजने के लिए 100 ट्रेनों को लगायेगा। इस वृहद कार्य में ट्रनों का उपयोग सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए और बलों के तेजी से एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेजने को ध्यान में रखते हुए किया जा रहा है। रेलवे से प्रत्येक कंपनी के लिए दो स्लीपर कोच मुहैया कराने का आग्रह किया गया है। किराये पर लिये गए ट्रेन लम्बी दूरी के साथ छोटी दूरी के होंगे। सडक़ मार्ग से सुरक्षा बलों को एक स्थान दूसरे स्थान पर भेजने के लिए निजी वाहनों को भी लगाया जायेगा। इसके अलावा प्रत्येक चरण में करीब एक दर्जन हेलीकाप्टर को लगाया जायेगा। लेकिन बीएसएफ के पास कोई एमआई 17 हेलीकाप्टर नहीं हैए इसकी सभी जरूरतों की पूर्ति भारतीय वायुसेना के हेलीकाप्टर से होगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.