झारखंड में 30 मार्च को राज्यसभा चुनावों के लिए कथित खरीद फरोख्त के आरोपों की जांच कर रही सीबीआई ने बुधवार को दो निर्दलीय विधायकों तथा अन्य विधायकों के परिजनों के परिसरों पर छापे मारे।
खरीद फरोख्त के आरोपों के चलते यहां राज्यसभा चुनाव भी स्थगित कर दिए गए थे। सीबीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया निर्दलीय विधायकों बंधु टिरकी और चमरा लिंडा के आवासों पर छापे जारी हैं। हमने पवन कुमार धूत के दिल्ली और गुडग़ांव स्थित आवासों पर भी छापे मारे।
धूत, राज्यसभा की दो सीटों के लिए निर्दलीय खड़े हुए प्रत्याशियों में से एक हैं। सीबीआई के अधिकारी ने बताया कि झामुमो विधायक सीता सोरेन के पिता के, ओडिशा में झारसुगड़ा स्थित आवास पर और राजद विधायक संजय यादव के पिता के आवास पर भी छापे मारे गए।
सीबीआई द्वारा इस मामले की जांच शुरू किए जाने के बाद से यह एजेंसी के छापे की चौथी कार्रवाई है। राज्यसभा के लिए चुनाव से कुछ घंटे पहले ही रांची में एक वाहन से 2.15 करोड़ रुपये बरामद होने के बाद खरीद फरोख्त के आरोपों की जांच सीबीआई कर रही है।
राज्यसभा का चुनाव उसी रात रद्द कर दिया गया और दो सीटों के लिए तीन मई को नए चुनाव हुए थे। इस मामले में दर्ज प्राथमिकी में कहा गया है कि जिस वाहन में रख कर धन राशि ले जाई जा रही थी, वह वाहन दो निर्दलीय प्रत्याशियों में से एक के कथित करीबी रिश्तेदार का था।
पूर्व में सीबीआई निर्दलीय प्रत्याशी आर के अग्रवाल और उनके परिजन के आवास पर छापे मार चुकी है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.