प्रतापगढ़: भारतीय जनता पार्टी  के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह प्रतापगढ़ पहुंचे. उन्होंने अफीमकोठी में कार्यकर्ताओं के सम्मेलन को संबोधित किया. इस दौरान स्वतंत्र देव ने भाजपा सरकार की उपलब्धियां गनवाईं. साथ ही बसपा और सपा पर निशाना साधा. मुलायम सिंह यादव से मिलने और सपा की ओर ऑफर के सवाल पर स्वतंत्र देव सिंह भड़क गये. उन्होंने कहा कि, हम जिससे भी मिलते है वो भाजपाई हो जाता है. मुलायम सिंह यादव को नेता जी सम्बोधित करते हुए बोले, नेता जी लाल टोपी नहीं लगाते, तो वहीं मायावती को भी बहन जी संबोधित करते रहे. इस दौरान सूबे के कैबिनेट मंत्री मोती सिंह, भाजपा अध्यक्ष हरिओम मिश्र और विधायक धीरज ओझा भी मंच पर मौजूद रहे.
हमसे जो भी मिलता है, भाजपा का हो जाता है
मीडिया से रूबरू हुए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने कुछ दिन पहले मुलायम सिंह यादव से मुलाकात पर प्रतिक्रिया देते हुए बोले, सपा की एक बौखलाहट और पागलपन है. अखिलेश यादव नहीं चाहते हैं कि, कोई हमारे पिता से मिले. 30 सालों में जो भी हमसे मिला वो भाजपा का हो गया. अध्यक्ष ने तंज कसते हुए कहा कि, मुलायम सिंह यादव भी राधे-राधे का पटका पहनते हैं. मुलायम सिंह को इंगित करते बोले, नेता जी सपा की टोपी नहीं लगाये थे. 31 तारीख को लखनऊ में कल्याण जी सिंह की श्रद्धांजलि सभा थी. मैंने नेता जी और बहिन जी से भी मुलाकात की थी.
फिर से भाजपा की सरकार बनने जा रही है
मायावती ने कल्याण सिंह जी की श्रद्धांजलि सभा में सतीश चन्द्र मिश्रा को भेजा था, लेकिन मुलायम सिंह यादव का स्वास्थ्य ठीक नहीं था. अध्यक्ष ने बसपा, सपा पर हमलावर होते हुए कहा कि, पूरा प्रदेश मोदी और योगी जी के साथ है. 15 सालों तक जनता ने सपा, बसपा की सरकार को देखा है, लेकिन उनकी सरकारों में कभी भी विकास की चर्चा नहीं होती थी. जब जनता सपा को निपटाती तो बसपा आ जाती और बसपा को निपटती तो सपा आ जाती. योगी सरकार में विकास हो रहा है, कानून व्यवस्था चुस्त दुरुस्त है, प्रदेश में गुंडे थर-थर कांपते हैं. उत्तर प्रदेश में फिर से भाजपा की सरकार बनाने जा रही है. बता दें कि, मुलायम सिंह से मिलने के बाद अफ़वाह फैल गयी थी कि सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष को सपा में शामिल होने का न्योता दिया, जिसके बाद सियासी पारा गर्म हो गया था.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.