indian-army-operation-in-kashmir-53fa3605650df_exlstनई दिल्‍ली। जम्‍मू-कश्‍मीर में अंतरराष्‍ट्रीय सीमा पर पाकिस्‍तान द्वारा बार-बार सीजफायर का उल्‍लंघन करने को लेकर मंगलवार को दोनों देशों के बीच डीजीएमओ (डायरेक्‍टर जनरल ऑफ म‍िल‍िट्री ऑपरेशन्‍स) लेवल की बैठक हुई। इसमें दोनों देश फ्लैग मीटिंग के लिए राजी हुए। हालांकि, यह बैठक हर हफ्ते होती है, लेकिन पाकिस्‍तान के रवैए में कोई फर्क पड़ता नजर नहीं आता। पाकिस्‍तान क‍ी ओर से जारी इस बेवजह फायरिंग के बाद भारत सरकार ने अपनी सेना को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए आजाद छोड़ दिया है। बताया जाता है कि इस वजह से पाकिस्‍तान को भारत की तुलना में चार गुना नुकसान उठाना पड़ा है।
इस साल 16 अगस्‍त को पाकिस्‍तान की ओर से शुरू की गई फायरिंग के बाद से भारतीय सेना ने जो जवाबी कार्रवाई की, उसमें पड़ोसी मुल्‍क के कुल 8 लोग मारे गए। इसमें सेना के जवान, लश्‍कर के आतंकवादी और आम नागरिक शामिल हैं। वहीं, इस समयावधि में भारत के सिर्फ दो आम नागरिकों ने जान गंवाई। यह सारी घटना जम्‍मू स्थित अंतरराष्‍ट्रीय सीमा पर हुई। यहां बीएसएफ के जवान तैनात हैं। हालांकि, 2013 की बात करें तो पाकिस्‍तानी सेना के हमले में कुल 12 भारतीय जवानों ने जान गंवाई। इस साल सिर्फ 1 बीएसएफ जवान मारा गया। बीते महीने यह जवान स्‍नाइपर फायरिंग का शिकार हो गया था।
जारी रहेगी कार्रवाई: बीएसएफ
बीएसएफ के एक अधिकारी ने कहा, ”पाकिस्‍तान द्वारा अगस्‍त मध्‍य में जब सीजफायर उल्‍लंघन किया गया, तो हमने मुंहतोड़ जवाब दिया। हम संख्‍याबल और हथियारों के मामले में पाकिस्‍तानी रेंजरों के मुकाबले तीन गुने हैं। इस वजह से दूसरे पक्ष को जानमाल का भारी नुकसान हुआ है। ऐसा तब है पाकिस्‍तानी रेंजर्स को पाक सेना मदद कर रही है। हम तब तक ऐसी ही कार्रवाई करेंगे, जब तक पाकिस्‍तान फायरिंग रोक नहीं देता।” ब‍ीएसएफ सूत्रों का कहना है कि पाक सरकार ने अपने रेंजर्स की मदद के लिए सेना के 12 मुजाहिद्दीन बटालियन चारवा सेक्‍टर में तैनात किए हैं।
नागरिक क्षेत्रों से दूरी बरतेगा भारत
कुछ दिन पहले गृह मंत्री राजनाथ सिंह की एनएसए चीफ अजीत डोभाल और बीएसएफ डीजी डीके पाठक से मुलाकात हुई थी। इसमें भारत-पाक सीमा पर बढ़ते तनाव पर चर्चा हुई। सूत्रों के मुताबिक, सरकार सीमा पर उसकी कार्रवाई के लिए बीएसएफ को पूरा समर्थन दे रही है। सरकार ने बीएसएफ से कहा है कि सीमावर्ती इलाकों में नागरिकों की सुरक्षा सुनि‍श्‍च‍ित की जाए। बीएसएफ डीजी ने कहा, ”हम पाकिस्‍तान द्वारा सीजफायर उल्‍लंघन का माकूल जवाब दे रहे हैं। हमारी कोशिश हैं कि इस जवाबी कार्रवाई में पाकिस्‍तान के सीमावर्ती इलाके निशाना न बनें।”

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.