49711-bsf-500जम्‍मू/नई दिल्‍ली। जम्‍मू कश्‍मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के समीप बीते कई दिनों से पाकिस्‍तान की ओर से की जा रही भारी गोलीबारी के बीच शुक्रवार को सीमा सुरक्षा बल (बीएसफ) और पाक रेंजर्स के बीच फ्लैग मीटिंग होगी। भारत और पाक के बीच यह पहली बार सेक्‍टर कमांडेंट स्‍तर की मीटिंग होगी। जानकारी के अनुसार, शुक्रवार दोपहर साढ़े तीन बजे आरएसपुरा सेक्‍टर में यह फ्लैग मीटिंग होगी। इस मीटिंग की मांग पाकिस्‍तान ने की थी। वहीं, कई दिनों के बाद बीती रात पाकिस्‍तान की ओर से कोई फायरिंग नहीं हुई है।
इस फ्लैग मीटिंग में भारत की तरफ से बीएसएफ के डीआईजी और पाकिस्तान की तरफ से चिनाब रेंजर्स के कमांडर शिरकत करेंगे। फ्लैग मीटिंग के दौरान संघर्ष विराम उल्‍लंघन के बढ़ते मामले पर जोर रहेगा।
मीटिंग का उद्देश्‍य सीमा पर तनाव को दूर करने और अंतरराष्ट्रीय सीमा के दोनों ओर शांति कायम करने पर है। यह बैठक 1971 के युद्ध के बाद सबसे भीषण गोलाबारी के बाद हो रही है। पाकिस्तान ने अनुरोध किया था कि सीमा पर तनाव कम करने और शांति बहाल करने के लिए सेक्टर कमांडेंट स्तर की ध्वज बैठक हो। हाल के महीनों में नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तान की ओर से संघर्ष विराम की घटनाओं में काफी वृद्धि हुई है।
गौर हो कि पाकिस्तान रेंजर्स की ओर से नागरिक इलाकों एवं सीमा चौकियों को निशाना बनाकर दो दिन पहले की गई गोलाबारी के बीच सीमा सुरक्षा बल ने जम्मू कश्मीर के सांबा सेक्टर में अतंरराष्ट्रीय सीमा के पास पाक रेंजर्स के साथ कमांडर स्तर की ध्वज बैठक की थी। इसमें दोनों पक्षों ने एक दूसरे को संघर्ष विराम का सम्मान करने के लिए कहा था। उस समय सांबा जिले के रामगढ़ सेक्टर में बीएसएफ एवं पाक रेंजर्स के बीच ध्वज बैठक हुई थी।
मगर इस बैठक के महज सात घंटे बाद पाक सैनिकों ने फिर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया तथा जम्मू के अखनूर सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर अग्रिम सीमा चौकियों और नागरिक इलाकों पर गोलाबारी की। पुलिस ने कहा कि पाक रेंजर्स ने अखनूर तहसील के पर्गवाल सब सेक्टर में देवोरा सीमाई क्षेत्र में अग्रिम सीमा चौकियों और नागरिक इलाकों पर भारी गोलाबारी की गई।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.