ramdev
ED send notice to ramdev

बालकृष्ण के बाद अब बाबा रामदेव की बारी है. सरकार ने बाबा रामदेव पर शिकंजा कसने के लिए भी कमर कस ली है. इसके लिए बाबा रामदेव पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की तरफ से शिकंजा कसा गया है. शुक्रवार को ईडी ने योग गुरू बाबा रामदेव के खिलाफ विदेशी मुद्रा प्रबंधन कानून (फेमा) के उल्लंघन के आरोप में नोटिस जारी कर उनसे स्पष्टीकरण मांगा है. गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय ने बाबा रामदेव के निकट सहयोगी बालकृष्ण को एक अलग मामले में साढ़े चार करोड़ रुपये के फेमा उल्लंघन का कारण बताओ नोटिस जारी किया था इसके साथ ही मनी लांड्रिंग रोकने के कानून के तहत अलग से केस दर्ज किया है.

सूत्रों के अनुसार, बाबा रामदेव के ट्रस्टों व कंपनियों के खिलाफ शुक्रवार को फेमा उल्लंघन के नोटिस जारी किए गए हैैं. इनमें एक नोटिस दिव्य योग मंदिर ट्रस्ट में अवैध तरीके से आए 26 लाख रुपये का है. बाबा रामदेव इसके ट्रस्टियों में शामिल हैं. यह कारण बताओ नोटिस पुलिस की चार्जशीट के अंतर्गत होती है और इस पर अद्र्ध न्यायिक फेमा एडजुकेटिंग अथारिटी में सुनवाई होती है. अब योग गुरू को अथारिटी के सामने आरबीआइ को बताए बिना 26 लाख रुपये की विदेशी मुद्रा लाने के मामले में सफाई देनी होगी. रामदेव की सफाई से संतुष्ट नहीं होने की स्थिति में एडुजकेटिंग अथारिटी तीन गुना तक जुर्माना लगा सकती है. दूसरे मामले में पातंजलि आयुर्वेद लिमिटेड के खिलाफ 34 लाख के फेमा उल्लंघन का नोटिस जारी किया गया है. इसमें रामदेव के निकट सहयोगी बालकृष्ण निदेशक हैं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.