फ्रांस के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने कहा है कि जिहादियों का हमला बंद हो गया है लेकिन अभी खतरा बना हुआ है। फ्रांस में पिछले तीन दिनों में हुए हमलों में 17 लोग मारे गए हैं। फ्रांस के कमांडो के हाथों कल तीन आतंकवादियों के मारे जाने के बाद टेलीविजन संबोधन में ओलांद ने फ्रांसीसी सुरक्षाबलों की बहादुरी की प्रशंसा करते हुए कहा, फ्रांस में हमले का खतरा अभी खत्म नहीं हुआ है।

फ्रांसीसी प्रधानमंत्री मैनुएल वाल्स ने एक अलग टीएफ 1 टेलीविजन पर कहा, हमें गंभीर आतंकवादी खतरों का सामना करना पड़ रहा है। व्यंग्य पर आधारित पत्रिका शार्ली हेब्दो के कार्यालय पर बुधवार को आतंकवादी हमले में 12 लोगों के मारे जाने के बाद पेरिस की सुरक्षा कड़ी कर दी गयी है।

एकजुटता दिखाने के लिए रैली में हिस्सा लेंगे यूरोपीय नेता
शार्ली हेब्दो के कार्यालय पर आतंकी हमले के बाद उठी एकता की लहर के बीच यूरोप के नेता फ्रांस के समर्थन में इस हफ्ते पेरिस में एक जन रैली में शामिल होकर असाधारण एकता का प्रदर्शन करेंगे। फ्रांसीसी पुलिस के हाथों पेरिस में जिहादी बंदूकधारियों को मारे जाने के बाद बड़े पैमाने पर फ्रांस को सहायता की पेशकश की गयी है। यह आतंकी हमला इतना व्यापक था कि पश्चिमी उत्तर कोरिया से लेकर क्यूबा और धुर विरोधी इजरायल से लेकर ईरान तक ने इसकी निंदा की।

नवीनतम हमलों के बाद दुनिया भर के शहरों में लोगों ने अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के समर्थन में खुद को जे सुइस शार्ली घोषित किया है। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरून और स्पेन के प्रधानमंत्री मरिआनो राजोय इस रैली में हिस्सा लेंगे। कैमरून ने कहा कि रविवार की रैली शार्ली हेब्दो के मूल्यों का जश्न मनाएगी। जर्मनी, इटली, बेल्जियम, पुर्तगाल, पोलैंड, स्वीडन, डेनमार्क, नार्वे और यूक्रेन के नेताओं ने भी कहा है कि वे इस रैली में हिस्सा लेंगे।

france

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.