पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। पाकिस्तान ने आज बुधवार सुबह जम्मू कश्मीर के कठुआ सेक्टर में बीएसएफ की दो चौकियों पर फायरिंग शुरू कर दी। बीती रात 11.30 बजे तक फायरिंग के बाद पाकिस्तानी रेंजर्स ने फिर से गोलीबारी शुरू कर दी है। सेना इसे घुसपैठ की से जोडक़र देख रही है। बताया जाता है सुबह 4 बजे करीब चार आतंकी घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे, लेकिन सेना की ओर से फायरिंग के बाद वे भाग निकले। खबर है कि लश्कर के 100 आतंकी घुसपैठ की फिराक में हैं।

इससे पहले मंगलवार और सोमवार को भी पाकिस्तान की ओर से भारी गोलीबारी की गई। पिछले चार दिनों से गोलीबारी का सिलसिला जारी है। मंगलवार को पाकिस्तान के सीजफायर उल्लंघन में बीएसएफ का एक जवान शहिद हो गया था। पाकिस्तानी रेंजर्स ने गोलीबारी में मोर्टार और गोले से सरहद के गांवों को भी निशाना बनाया है। दहशत के कारण अब तक 57 गांवों के करीब 10 हजार लोग अपना घर छोडक़र पलायन कर चुके हैं।

सरहद पर मंगलवार को दिन में सांबा सेक्टर के ठाकुरपुरा में पाकिस्तानी रेंजर्स ने भारतीय चौकियों को निशाना बनाया गया। इस बीच बीएसएफ के डीजी डीके पाठक मंगलवार को जम्मू पहुंचे। उन्होंने संघर्ष विराम उल्लंघन को घुसपैठ से जोड़ते हुए आतंकी हाफिज सईद की भूमिका से इनकार नहीं किया है। पाठक ने इस दौरान सैन्य चौकियों पर जाकर सुरक्षा का जायजा भी लिया। पाठक ने आशंका जाहिर की है कि आतंकी 26 जनवरी से पहले किसी बड़े आतंकी हमले की साजिश रच रहे हैं, लिहाज सीमा पर सेना पूरी तक सर्तकता बरत रही है।

pak

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.