jagat sharmaबुलेट ट्रेन का प्रोजेक्ट अच्छा है लेकिन अपने देश में पहले ही इतनी भूखमरी और गरीबी की समस्या है कि इसका बजट सहन कर पाना हानिकारक ही होगा। इतना बड़ा ापना देखने से बेहतर है कि पहले छोटे छोटे सपने पूरे किए जाएं। ये बिल्कुल भी हमारे हित की बात नहीं हैं। दूसरों की नकल करने से कोई विकसित देश नहीं बनेगा। इतना फालतु अपव्यय करने से अच्छा है उसका निवेश देश की बाकी समस्याओं को सुधारने में करें।
जगत शर्मा दतिया

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.