आज कल करियर के नाम इंजीनियरिंगए डॉक्टर व आईएएस बनने तक ही लोग सीमित हैं। यही कारण है कि छात्रों के पास आज विकल्प कम हो गई है। जबकि करियर के लिए इन फील्ड्स के अलावा भी बहुत विकल्प हैं। इंजीनियरिंग में मैप आर्टिस्ट ;कार्टोग्राफीद्धए मेडिकल में नर्सिंग लैब टेक्नीशियन और टीचिंग समेत कई ऐसे विकल्प जिसमें करियर बनाने के बहुत मौके हैं। जरूरत है तो बस उन्हें पहचानने की । नेशनल पीजी कॉलेज में रविवार को छात्रों की काउंसलिंग के दौरान एक्सपर्ट शान्तनु शुक्ला ने यह बात कही। इस बीच छात्रों ने एक्सपट्र्स से करियर से जुड़े कई सवाल किए। नेशनल पीजी कॉलेज के भूगोल विभाग की ओर से रिमोट सेंसिंग पर आयोजित कार्यशाला में छात्रों को मैप के निर्माण और उसकी उपयोगिता के बारे में बताया गया। कार्यशाला में छात्र.छात्राओं से लखनऊ के विभिन्न समस्याग्रस्त क्षेत्रोंए वायु प्रदूषणए जल प्रदूषणए रोड एक्सीडेन्टए गोमती नदी समेत कई विषय देकर उनसे मैप बनवाएं गए। साथ ही मानचित्र के माध्यम से किस प्रकार समस्याओं से निदान पाया जा सकता है यह भी बताया गया।
सुधा बनी क्विज की विजेता:-
इस मौके पर कॉलेज में जियोग्रफी के छात्रों के बीच एक क्विज कॉन्टेस्ट का भी आयोजन किया गया। इसमें नेशनल समेत एलयूए आईटी और अवध डिग्री कॉलेज के छात्रों ने भाग लिया। इसमें प्रतिभागियों से जियोग्रफी व जनरल नॉलेज के सवाल पू्छे गए। तीन प्रतियोगिताओं के संपन्न होने के बाद सुधा रावत ने प्रथम स्थान प्राप्त कर इक्कीस सौ रुपये का कैश प्राइज अपने नाम किया। वहीं संजीव मार्कंडेय तिवारी ने दूसरा और तीसरा स्थान प्राप्त कर पंद्रह सौ और पांच सौ रुपये का पुरस्कार प्राप्त किया।
logo-college

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.